[shimla] - नेता विपक्ष मुकेश बोले- साख बचाने को अफसरशाही पर फोड़ा ठीकरा

  |   Shimlanews

नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि जयराम सरकार ने नाकामियों का ठीकरा अफसरशाही पर फोड़ने का प्रयास किया है। बड़े स्तर पर उच्च अधिकारियों के तबादलों पर मुकेश ने कहा कि पहली दफा अफसरशाही में भी सरकार के प्रति अविश्वास का माहौल दिख रहा है। प्रेस बयान में मुकेश ने कहा कि चार माह में सरकार की आम जनमानस में छवि खराब हुई है।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अपनी पहली बनाई टीम को पलट दिया है। ऐसे में नई टीम में आए अधिकारी भी खुशफहमी में न रहें। क्योंकि इस सरकार में कुछ भी स्थायी नहीं है। यह तबादले साफ संकेत हैं कि सरकार ठीक नहीं चल रही। मुकेश ने कहा कि पहले ही दिन से जयराम तबादले वाले सीएम के रूप में प्रचारित हो रहे हैं।

सचिवालय में ही सैकड़ों फेरबदल हो चुके हैं। अपनी खामियों पर पर्दा डालने के लिए अधिकारियों और कर्मचारियों को ताश के पत्तों की तरह फेंटने का नाकाम प्रयास हो रहा है। अग्निहोत्री ने कहा कि भाजपा सरकार दिशा और दशा में भटक गई है। प्रदेश में सड़क और परिवहन व्यवस्था पर खासा ध्यान देने की जरूरत है।

शिमला और सिरमौर के हादसों ने गमगीन किया है। हादसे थमने का नाम नहीं ले रहे और सरकार को जश्न से बाहर आने का समय नहीं है। उन्होंने कहा कि जयराम सरकार में सत्ता के कई केंद्र स्थापित हो गए हैं। ऐसे में सरकार अपनों से उलझकर रह गई है। सत्ता के पावर सेंटर अपने-अपने हिसाब से बदलाव को अंजाम दे रहे हैं।

सीएम कार्यालय ही कमजोर- अग्निहोत्री ने कहा कि पहली बार प्रदेश में ऐसा देखने को मिल रहा है कि मुख्यमंत्री कार्यालय ही कमजोर केंद्र के रूप में उभर रहा है। इससे कामकाज संभल नहीं रहा है। सीएम कार्यालय के ठीक से काम न करने की चिंता भी जयराम के चेहरे पर झलक रही है। इसलिए तबादलों से सीएम के मजबूत होने के संदेश दिया जा रहा है।

घायल की मौत पर जताया शोक- अग्निहोत्री ने कसौली गोलीकांड में घायल पीडब्ल्यूडी कर्मचारी की मौत पर शोक जताया है। उन्होंने कहा कि सरकार और प्रशासन की नाकामी से दो कर्मचारियों की मौत हुई है। यह घटना प्रदेश सरकार पर दाग है। इसकी न्यायिक जांच होनी चाहिए थी लेकिन सरकार ने घटना पर पर्दा डालने के लिए प्रशासनिक जांच करने का निर्णय लिया जो गलत है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Ejdf6wAA

📲 Get Shimla News on Whatsapp 💬