[siddharthnagar] - उमस भरी गर्मी में रुला रही बिजली

  |   Siddharthnagarnews

फोटो विद्युत कटौती और लो वोल्टेज से बढ़ी परेशानीइन्वर्टर भी नहीं हो पा रहे हैं चार्ज, ग्रामीण क्षेत्रों में और बुरा हाल अमर उजाला ब्यूरो सिद्धार्थनगर। चिलचिलाती धूप और उमस भरी गर्मी के साथ ही लोग विद्युत कटौती और लो वोल्टेज की समस्या से परेशान हैं। लो वोल्टेज का आलम यह है कि लोगों के इन्वर्टर भी चार्ज नहीं हो पा रहे हैं। मुख्यालय पर 22 घंटे बिजली रहने के दावे कागजों तक ही सीमित हैं। जबकि हकीकत कुछ और ही है। ग्रामीण क्षेत्रों में और भी बुरा हाल है। यहां 18 घंटे की तुलना में बमुश्किल 10 से 12 घंटे बिजली मिल रही है, वह भी किश्तों में। उस पर अगर कही ग्रामीण क्षेत्र के ट्रांसफार्मर फुंक जाए तो उसे बदलने में बिजली निगम को कई दिन का समय लग जा रहा है। इन्वर्टर तक नहीं हो पा रहा चार्ज नगर पालिका सिद्धार्थनगर के 25 वार्डों में लो-वोल्टेज की समस्या सबसे अधिक है। स्थिति ऐसी हो चुकी है कि इन्वर्टर तक चार्ज नहीं हो पा रहा है। इसे लेकर कई बार शिकायत भी हुई, लेकिन कोई हल नहीं निकला। डोल रहे पंखे नौगढ़ निवासी जीशान लारी का कहना है कि गर्मी शुरू होते ही लो-वोल्टेज की समस्या शुरू हो जाती है। इसके कारण पंखे बहुत केवल डोल रहे हैं। शहर में भी 22 घंटे की बजाय मात्र 15-16 घंटे ही आपूर्ति मिल रही है। गर्मी में बुरा हाल नौगढ़ निवासी रहमत ने बताया कि लो-वोल्टेज सबसे ज्यादा कष्ट दे रहा है। इसके बाद भी व्यवस्था सुधर नहीं रही है। दिन तो किसी तरह कट जाता है, पर रात में ज्यादा दिक्कत होती है। निगम को इसमें सुधार करना चाहिए। लगा दिया पुराना ट्रांसफार्मर सिसवा बुजुर्ग निवासी नागेंद्र नाथ तिवारी ने बताया कि 15 दिन पहले आंधी में ट्रांसफार्मर जल गया था। किसी तरह निगम ने ट्रांसफार्मर बदला वह भी पुराना। इसके कारण गर्मी में बिजली नहीं मिल पा रही है। नहीं सुधर रही व्यवस्था सदाकांत ने बताया कि बिजली व्यवस्था बदहाल है। इन्वर्टर और मोबाइल चार्ज तक नहीं हो पा रहा है। इस संबंध में बिजली निगम के अफसरों से कई बार शिकायत भी की गई, पर समस्या सुधरने की बजाए और भी बिगड़ गई। 50 गांवों में 15 दिन बाद भी बिजली नहीं इटवा क्षेत्र के कठौतिया फीडर से जुड़े 50 से अधिक गांवों में पिछले 15 दिनों से बिजली नहीं है। इसके कारण भीषण गर्मी में ग्रामीणों को परेशान होना पड़ रहा है। इन गांवों में हरिबंधनपुर, रमवापुर, बूड्ढी खास, छगड़िहवा, गदाकउवा, सेमरआ डिहवा, मुड़िला मिश्र, संग्रामपुर आदि शामिल है। ग्रामीणों का कहना है कि 15 दिन पहले आई आंधी से बिजली व्यवस्था ध्वस्त हुई थी। तब से लेकर अब तक निगम इसे ठीक नहीं करा सका है। एसडीओ इटवा पवन कुमार गुप्ता ने बताया कि काम चल रहा है। एक से दो दिनों में बिजली आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी। लो वोल्टेज की समस्या तकनीकी कारणों से है। इसे दिखवाया जा रहा है। मुख्यालय पर 22 घंटे से अधिक बिजली की आपूर्ति की जा रही है। जहां पर ट्रांसफार्मर खराब होने की सूचना मिलती है वहां तत्काल कर्मियों को भेजकर ट्रांसफार्मर बदलवाया जाता है। अगर इस मामले में कहीं भी लापरवाही मिली तो कार्रवाई की जाएगी। - पीएन प्रसाद, अधिशाषी अभियंता

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/8J5UdgAA

📲 Get Siddharthnagar News on Whatsapp 💬