[siddharthnagar] - मदर्स-डे वाले दिन घर पहुंचा जवान बेटे का शव

  |   Siddharthnagarnews

डुमरियागंज। अपने गांव के चैराहे पर छोटा सा होटल खोलकर घर का खर्च चलाने वाले युवक की शनिवार की रात सड़क हादसे में मौत हो गई। हादसे के दौरान वह घर से खाना खाकर सोने के लिए होटल जा रहा था। इसी दौरान पीछे से आ रही तेज रफ्तार बाइक ने उसे टक्कर मार दी। युवक को इलाज के लिए बेंवा सीएचसी लाया गया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। बाइक पर पीछे बैठे युवक का भी दाहिना पैर टूट गया है। रविवार को मदर्स-डे वाले दिन इकलौते बेटे का शव घर पहुंचने पर उमेश और दुर्गा की मां उर्मिला का रो-रोकर बुरा हाल है।

खुनियांव ब्लॉक क्षेत्र के धौरहरा गांव निवासी उमेश कुमार का इकलौता बेटा दुर्गा प्रसाद (22) घर से थोड़ी दूर चौराहे पर होटल चलाता था। शनिवार की रात 9 बजे वह घर से खाना खाकर होटल पर सोने जा रहा था। तभी इटवा निवासी रामनवल (28 साल) ने उसे तेज रफ्तार बाइक से टक्कर मार दी। बाइक पर सुरेश भी बैठा था। टक्कर लगने से दुर्गा प्रसाद सिर के बल सड़क पर गिर पड़ा। वहीं, बाइक पर पीछे बैठे सुरेश का दाहिना पैर टूट गया। घटना के बाद गांव के लोग वहां पहुंचे और दुर्गा और सुरेश को इलाज के लिए बेंवा सीएचसी ले गए। डॉक्टर अशोक ने दुर्गा प्रसाद को मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना पर पहुंची डुमरियागंज पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सुरेश को इलाज के लिए बस्ती जिला अस्पताल रेफर किया गया है। इस संबंध में इंस्पेक्टर आरबी सिंह ने बताया कि घटना की जानकारी है। अभी तक तहरीर नहीं मिली है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/1zMxhAAA

📲 Get Siddharthnagar News on Whatsapp 💬