👉एससी ने 1 हजार रुपए का जुर्माना 💴लगाकर नवजोत सिंह सिद्धू को किया👌 बरी

1988 के गैर इरादतन हत्या के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने क्रिकेटर से राजनेता बने नवजोत सिंह सिद्धू को बड़ी राहत दे दी है। इस मामले में उन्हें बरी कर दिया गया है। हालांकि इससे जुड़े रोड रेज मामले में कोर्ट ने उन्हें दोषी करार दिया है। इस मामले में उन पर 1000 रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

जस्टिस जे चेलामेश्वर और एसके कौल की बेंच ने सिद्धू को बरी कर दिया है। इस मामले में पंजाब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से मांग की थी कि सिद्धू को कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए। बता दें कि सिद्धू पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सरकार में मंत्री हैं।

27 दिसंबर 1988 को सिद्धू और रुपिंदर सिंह संधू पटियाला में शेरनवाला गेट चौराहे के पास अपनी गाड़ी में बैठे हुए थे। उस वक्त गुरनाम सिंह और उनके दो साथी बैंक से रुपये निकालकर लौट रहे थे। गुरनाम सिंह ने सिद्धू से रास्ता देने लिए कहा लेकिन सिद्धू और संधू हटने को तैयार नहीं हुए। इसी बात को लेकर दोनों पक्षों में कहा सुनी हो गई, विवाद इतना बढ़ा कि सिद्धू ने गुरनाम सिंह की बुरी तरह पिटाई कर दी। सिंह की इलाज के दौरान मौत हो गई थी।

इस मामले में 1999 में ट्रायल कोर्ट ने हार्ट अटैक को गुरनाम सिंह की मौत का कारण मानते हुए सिद्धू और संधू को बरी कर दिया था। हालांकि 2006 में पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने ट्रायल कोर्ट के फैसले को पलट दिया और दोनों को 3 साल की सजा सुनाई थी। इसके बाद सिद्धू ने इस सजा के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की। सुप्रीम कोर्ट ने साल 2007 में हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगा दी थी। सुप्रीम कोर्ट के रोक के बाद ही सिद्धू ने अमृतसर से चुनाव लड़ा था।

यहां देखें फोटो-http://v.duta.us/dR3PcgAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬