[budaun] - डीआईजी जेल ने दूसरे दिन भी की गहरी पूछताछ

  |   Budaunnews

फोटो--17 डीआईजी जेल ने दूसरे दिन भी की पूछताछरस्सी के सहारे दीवार फांदकर फरार हुआ था बंदी 48 घंटे की पूछताछ में सस्पेंड हो चुके हैं दो बंदी रक्षक अमर उजाला ब्यूरो बदायूं। डीआईजी जेल शशि श्रीवास्तव ने बंदी फरार होने के मामले में दूसरे दिन भी बंदियों, कैदियों और कर्मचारियों से गहरी पूछताछ की। सभी से उनकी लोकेशन पूछी गई। उनके नाम-पते नोट किए गए। इस दौरान कुछ बंदियों ने अपनी समस्या भी बताई। उन्होंने समस्या के समाधान का आश्वासन देते हुए पहले इस मामले को निपटाने को कहा। पिछले 48 घंटे से चल रही पूछताछ में अब तक दो बंदी रक्षकों पर गाज गिर चुकी है। अभी कुछ अन्य कर्मचारियों पर गाज गिरना तय माना जा रहा है। जिला कारागार बदायूं से 12 मई की रात करीब पौने आठ बजे विचाराधीन बंदी सुमित बाहर से फेंकी गई रस्सी के सहारे दीवार कूद कर फरार हो गया था। जबकि कुख्यात अपराधी देवकी नंदन उर्फ चंदन सिंह भागने में असफल रहा था। इस प्रयास में उसने होमगार्ड श्यामलाल को पीट दिया था। उस पर पिस्टल से गोली भी चलाई थी लेकिन फायर मिस होने की वजह से होमगार्ड बाल-बाल बच गया परंतु मारपीट से उसके चेहरे पर कुछ चोटें आईं थी। उस रात डीएम, एसएसपी से लेकर सभी अधिकारी जेल पहुंच गए थे। आनन-फानन में सभी थाना पुलिस को अलर्ट कर दिया गया था। सभी मार्गों पर चेकिंग शुरू करा दी थी, परंतु फरार बंदी सुमित का कोई सुराग नहीं लग सका। इस मामले की सूचना पर रविवार सुबह जिला कारागार पहुंची डीआईजी जेल शशि श्रीवास्तव लगातार मामले की छानबीन में लगी हुई हैं। रविवार रात करीब आठ बजे तक उन्होंने कई बंदियों, कर्मचारियों और जेल अधिकारियों से पूछताछ की। इनके अलावा जेल अधीक्षक कैलाश पति त्रिपाठी की जांच में दोषी पाए गए बंदी रक्षक भगवान सरन दीक्षित और विजय कुमार को सस्पेंड किया गया। डीआईजी जेल रात को बदायूं में ही ठहरी थीं। सोमवार सुबह करीब नौ बजे वह जेल पहुंचीं और मामले में छानबीन शुरू कर दी। रात करीब आठ बजे तक वह जेल में ही मौजूद रहीं। दोपहर का खाना भी उन्होंने जिला कारागार में खाया। साथ ही साथ कर्मचारियों और बंदियों से पूछताछ करती रहीं। -----------बंदी की तलाश में जुटी पुलिस, नहीं लगा सुराग एसएसपी अशोक कुमार द्वारा बनाई गईं तीन टीमें लगातार बंदी की खोजबीन में लगी हैं। एक टीम मुरादाबाद के लिए रवाना हो चुकी है। बाकी दो टीमें भी अलग-अलग क्षेत्रों में तलाश कर रहीं हैं। एसएसपी स्वयं लगातार पुलिस कार्रवाई की मॉनीटिरिंग कर रहे हैं। ---पुलिस ने हटवाए जेल से सटे वाहन जिला कारागार की दीवार से सटे वाहनों को सिविल लाइंस थाना पुलिस ने सोमवार दोपहर हटवा दिया। इसके लिए पुलिस ने जेसीबी मंगाई थी। उसके बाद अभियान चलाकर दीवार के किनारे खड़े वाहन हटवाए गए। उन्हें थाना परिसर में शिफ्ट कर दिया गया है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/rpkwTQAA

📲 Get Budaun News on Whatsapp 💬