[karnal] - ओसवाल पंप की फैक्टरी में भीषण आग, 101 नंबर पर फोन किया तो जवाब मिला, हमारी हड़ताल है, हम नहीं आ नहीं सकते

  |   Karnalnews

करनाल। तेज आंधी के बाद कुटेल स्थित ओसवाल पंप लिमिटेड कंपनी की फैक्टरी में देर रात आग लग गई। आग लगने के कारणों का पता नहीं लग सका है। अंदेशा जताया जा रहा है कि बिजली के शॉर्ट-सर्किट की वजह से आग लगी है। जब तक फैक्टरी में मौजूद कर्मचारियों को आग का पता चला तब तक तेज आंधी की वजह से आग भीषण रूप ले चुकी थी। आग लगने की वजह से फैक्टरी में रखा करोड़ों रुपये का सामान जलकर खाक हो गया। हद तो यह रही की पीड़ित आग बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड के 101 नंबर पर फोन करते रहे, लेकिन उन्होंने सहायता करने से साफ मना कर दिया। ओसवाल पंप लिमिटेड के डायरेक्टर राजीव गुप्ता ने बताया कि रविवार रात में उनके पास फैक्टरी से एक कर्मचारी का फोन आया और उन्होंने आग लगने की सूचना दी। जब वे करनाल स्थित अपने निवास से कुटेल पहुंचे तो तब तक आग भीषण रूप ले चुकी थी। उन्होंने तुरंत फायर ब्रिगेड के लिए करनाल फायर ब्रिगेड में फोन किया तो वहां मौजूद कर्मचारियों ने फोन तो उठा लिया पर सहायता करने से साफ मना कर दिया। बकौल राजीव उन्होंने कहा कि फायर कर्मचारी हड़ताल पर चल रहे हैं, ऐसे में वे फायर ब्रिगेड की गाड़ी आग बुझाने के लिए नहीं भेज सकते आप खुद ही कोई व्यवस्था करें। इसके बाद उन्होंने घरौंडा फायर ब्रिगेड कार्यालय से सहायता मांगी तो उन्होंने वहां से एक गाड़ी भेज दी और आग पर काबू पाया। राजीव ने कहा है कि यदि समय रहते उन्होंने फायर ब्रिगेड की सुविधा मिल जाती तो उनका नुकसान कम होता। रविवार देर सायं तेज आंधी की वजह से आग ने भीषण रूप लिया। आग लगने के कारणों का पता नहीं चल सका है। राजीव ने बताया कि उनकी फैक्टरी के कर्मचारियों ने आग पर काबू पाने का प्रयास किया, लेकिन आगे फैलती चली गई और ज्यादातर इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, मशीनें और तैयार और कच्चा माल जलकर खाक हो गया। आग की वजह से फैक्टरी का पुराना रिकॉर्ड भी जल गया है। राजीव ने बताया कि यदि उन्हें घरौंडा फायर ब्रिगेड से सहायता न मिलती तो आग फैक्टरी के साथ-साथ ऑफिस को भी चपेट में ले लेती। हालांकि ऑफिस तक आग पहुंच चुकी थी। स्थानीय पुलिस और प्रशासन को हादसे की सूचना दे दी गई है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/lj8JcgAA

📲 Get Karnal News on Whatsapp 💬