[kotdwar] - आंधी से उड़ी मकान और स्कूलों की छत, उखड़े पेड़

  |   Kotdwarnews

कोटद्वार/धुमाकोट/जयहरीखाल। रविवार शाम करीब एक घंटे तक चले आंधी-तूफान से कोटद्वार, दुगड्डा, जयहरीखाल व धुमाकोट क्षेत्रों में जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। तूफान से जहां कई घरों की छत उड़ गई, वहीं हाईवे पर पेड़ उखड़कर गिर गए। इससे घंटों सड़कें जाम रहीं। ग्रामीणों और राहगीरों ने खुद ही पेड़ों को सड़कों से हटाकर यातायात सुचारु करवाया। तूफान से फल, सब्जियों को भी बहुत नुकसान पहुंचा है। धुमाकोट में जीआईसी शंकरपुर के विद्यालय भवन की टीन की छत उखड़ गई। जीआईसी खिरेरीखाल की स्कूल छत तूफान से उखड़ गई, जिससे पठन-पाठन प्रभावित हो गया। रविवार शाम को आई आंधी-तूफान से जड़ाऊखांद-मजेड़ाबैंड मोटर मार्ग पर कई सूखे चीड़ के पेड़ धराशायी हो गए। गांवों में घर-आंगन में लगे आम, माल्टा व संतरे आदि के पेड़ भी तूफान से टूट गए। जयहरीखाल कस्बे में आंधी, तूफान से होटल और स्कूल कालेजों की छत उड़ गई। राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय जयहरीखाल के भूगर्भ विज्ञान भवन के छत पर पेड़ गिरने से छत क्षतिग्रस्त हो गई। दुगड्डा विकासखंड के जौरासी ग्राम पंचायत में आंधी से ग्रामीण पीतांबर दत्त डबराल की टीन की छत उड़ गई। आंधी के कारण कई क्षेत्रों में सड़कों पर पेड़ उखड़कर गिर पड़े।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/-3HVawAA

📲 Get Kotdwar News on Whatsapp 💬