[pratapgarh] - आंधी ने ली तीन की जान, आग लगने से 50 घर जलकर राख

  |   Pratapgarhnews

जिले में रविवार की रात आए आंधी-तूफान ने तीन लोगों की जान ले ली। आंधी के दौरान भड़की चिंगारी से अंतू के लंगड़ा का पुरवा में 50 घर जलकर राख हो गए। हाईवे से लेकर लिंक मार्गों पर पेड़ व बिजली के पोल गिरने से आवागमन दस घंटे तक ठप रहा। शहर में 16 घंटे बाद बिजली आपूर्ति बहाल हुई। जबकि ग्रामीण इलाकों में अभी भी बिजली गुल है। पेड़ गिरने से कई घर क्षतिग्रस्त हो गए। लगभग 90 लाख के नुकसान का अनुमान लगाया गया है।

रविवार रात करीब पौने नौ बजे अचानक मौसम बदल गया। हल्की बूंदांबादी के बीच तेज हवाएं चलने लगीं। तेज आवाज के साथ बिजली कड़कने लगी। कुछ ही देर में बरसात भी होने लगी। इस दौरान नवाबगंज थाना क्षेत्र के बेनऊ का पुरवा में पंपिगसेट पर सो रहे बिरजू सरोज (68) के ऊपर पेड़ गिर गया। दबने से उनकी मौत हो गई। परिवार के लोगों को सोमवार की सुबह जानकारी हो सकी। परिवारीजन रोने-बिलखने लगे।

दूसरी ओर देवसरा थाना क्षेत्र के सैलखां निवासी बनवारीलाल (45) सोमवार की रात अपने कच्चे मकान में सो रहे थे। इस दौरान मकान पर नीम का पेड़ गिर पड़ा। जिसके मलबे में दबकर बनवारीलाल की मौत हो गई। तीसरी घटना कंधई थाना क्षेत्र के दरछुट गांव में हुई। आंधी के दौरान स्नानाघर का टीनशेड ठीक कर रहा रोशन अली (15) पुत्र आशिक अली छत से गिरकर घायल हो गया। जब तक परिवार के लोग उसे उपचार के लिए अस्पताल ले जाते, तब तक उसकी मौत हो गई। आंधी के चलते अंतू थाना क्षेत्र के पदुमपुर लंगड़ा का पुरवा में भड़की चिंगारी ने 50 कच्चे व पक्के मकानों को जलाकर राख कर दिया।

जगह-जगह सैकड़ों पेड़ व पोल गिरने के कारण बिजली व्यवस्था चरमरा गई। ग्रामीण इलाकों में अभी भी बिजली बहाल नहीं हो सकी है। शहर में 16 घंटे बाद बिजली आपूर्ति बहाल हो सकी। करीब एक घंटे के चक्रवात से जिले के अधिकांश गांवों की बिजली गुल हो गई। हाईवे के साथ ही लिंक मार्गों पर गिरे पेड़ों को काट-छांटकर किसी तरह सोमवार की सुबह आवागमन बहाल कराया गया।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Ycm4QwAA

📲 Get Pratapgarh News on Whatsapp 💬