[shimla] - बागवानी विकास परियोजना के मौजूदा स्वरूप पर महेंद्र सिंह ठाकुर ने उठाए सवाल

  |   Shimlanews

जब हिमाचल में बागवानी विकास के लिए तकनीक न्यूजीलैंड की है तो इटली से महंगे सेब पौधे क्यों मंगवाए जा रहे हैं? बागवानी मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने 1134 करोड़ रुपये की बागवानी विकास परियोजना के मौजूदा स्वरूप पर सवाल उठाते हुए कहा कि

न्यूजीलैंड की परामर्शक एजेंसी पर ही 100 करोड़ रुपये खर्च हो रहे हैं, जबकि पौधे न्यूजीलैंड से मंगवाने के बजाय इटली से मंगवाए जा रहे हैं, जबकि न्यूजीलैंड में सेब की बेहतरीन किस्में उग रही हैं।

ठाकुर ने कहा कि बागवानी प्रोजेक्ट में बदलाव बागवानों के ही हित में होगा। इस परियोजना को महज पांच विधानसभा क्षेत्रों तक ही सीमित कर दिया गया था। अब ये राज्य भर के उन तमाम 63 हलकों में लागू की जाएगी, जिनमें पूरी तरह से अब तक बागवानी नहीं हो रही है।

विदेशों से महंगे पौधे मंगवाने के बजाय इन्हें हिमाचल में ही तैयार करवाया जाएगा। इन्हें बागवानों को भारी-भरकम रेट पर नहीं, बल्कि रियायती दरों पर उपलब्ध करवाएंगे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/aAqPrgAA

📲 Get Shimla News on Whatsapp 💬