एससी एसटी एक्ट पर 🏛️ सुप्रीम कोर्ट सख्त, 🗣️ कहा- किसी के सिर पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी रहे तो यह सभ्य समाज नहीं👈

  |   समाचार

एससी एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट ने फिर एक बार कड़ा रुख अपनाया है । बुधवार को सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि पुराना आदेश बना रहेगा । अब इस मामले में कोर्ट छुटि्टयों के बाद सुनवाई करेगा । कोर्ट ने कहा कि यदि एकतरफा बयानों के आधार पर किसी नागरिक के सिर पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी रहे तो समझिए हम सभ्य समाज में नहीं रह रहे हैं ।

जज आदर्श गोयल ने कहा कि यहां तक कि संसद भी ऐसा कानून नहीं बना सकती जो नागरिकों के जीने के अधिकार का हनन करता हो और बिना प्रक्रिया के पालन के सलाखों के पीछे डालता हो । कोर्ट ने ये आदेश अनुच्छेद 21 के तहत जीने के अधिकार को सरंक्षण देने के लिए दिया है । कोर्ट ने कहा कि जीने के अधिकार के लिए किसी को इनकार नहीं किया जा सकता ।

वहीं अटॉनी जनरल केके वेणुगोपाल ने कहा कि जीने का अधिकार बडा़ व्यापक है । इसमें रोजगार का अधिकार, शेल्टर भी मौलिक अधिकार हैं, लेकिन विकासशील देश के लिए सभी के मौलिक अधिकार पूरा करना संभव नहीं है । क्या सरकार सबको रोजगार दे सकती है?

गौरतलब है कि जस्टिस आदर्श गोयल 6 जुलाई को रिटायर हो रहे हैं । ऐसे में इस मामले में सुनवाई का क्या होगा ? ये सवाल है । SC/ST एक्ट को लेकर केंद्र सरकार की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई हुई । पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति अधिनियम के तहत मिली उन शिकायतों पर ही गिरफ्तारी से पहले जांच की जरूरत है जब शिकायत मनगढ़ंत या फर्जी लगे ।

फोटो के लिए देखेंं- http://v.duta.us/UDmUgAAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬