👉कर्नाटक के नए सीएम बनेंगे 😲येदियुरप्पा, कल सुबह 9:30 बजे लेंगे 🤚शपथ

  |   समाचार / PM Modi News

कर्नाटक विधानसभा चुनाव की मतगणना के बाद किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिलने के बाद से सरकार बनाने को लेकर चल रहा असमंजस बुधवार शाम को साफ हो गया है।सूत्रों के मुताबिक, राज्यपाल वजुभाई वाला ने राज्य में सरकार बनाने के लिए सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी को चुना है।

बीजेपी सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है राज्यपाल ने बीएस येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्योता दिया है। सूत्रों के मुताबिक, येदियुरप्पा कल सुबह 9:30 बजे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए येदियुरप्पा ने राज्यपाल से एक सप्ताह का समय मांगा है।

इसके बाद कांग्रेस ने राज्यपाल के इस फैसले पर आपत्ति जाहिर की है। कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और जेडीएस के पास बहुमत के लिए पर्याप्त संख्या है, फिर भी राज्यपाल ने कुमारस्वामी को सरकार बनाने के लिए नहीं बुलाया। वह उम्मीद करते हैं कि संविधान का उल्लंघन नहीं होगा।

यहां देखें टि्वट- http://v.duta.us/WEJfTAAA

राज्यपाल के फैसले के बाद कपिल सिब्बल ने कहा कि मणिपुर हो या फिर मेघालय हो, राज्यपाल ने बहुमत के हिसाब से सरकार बनवाई थी। फिर कर्नाटक के मामले में ऐसा क्यों नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि राज्यपाल अगर संविधान का उल्लंघन करता है तो निश्चित रूप से कहीं न कहीं से तो दबाव है। इसी तरह राज्यपाल के फैसले पर आपत्ति जाहिर करते हुए एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि किसी को 3 करोड़ रुपये का ऑफर दिया जा रहा है, किसी को 5 करोड़ तो किसी को 100 करोड़ का। सड़क पर घूमने वाले की कोई कीमत है?

यहां देखें दूसरा टि्वट-http://v.duta.us/zK4hKAAA

कर्नाटक चुनाव के नतीजों में कोई भी पार्टी बहुमत का जादुई आंकड़ा (112) पार नहीं कर पाई थी। ऐसे में सत्ता हासिल करने के लिए बीजेपी और कांग्रेस दोनों तरफ से विधायकों को जोड़ने-तोड़ने की हर संभव कोशिश चल रही थी। फिर शाम को कुमारस्वामी कांग्रेस-जेडीएस के कुल 113 विधायकों को लेकर राजभवन पहुंच गए।जेडीएस नेता कुमारस्वामी, कांग्रेस विधायक जी. परमेश्वर और रेवन्ना ने राज्यपाल वजुभाई वाला से मुलाकात की और सभी विधायकों का समर्थन-पत्र भी सौंप दिया था।

कुमारस्वामी और जी. परमेश्वर ने बताया था कि उन्होंने कांग्रेस-जेडीएस के सभी विधायकों का समर्थन पत्र राज्यपाल को सौंप दिया है। उम्मीद है राज्यपाल संविधान के मुताबिक, फैसला लेंगे। कांग्रेस-जेडीएस ने यह भी कहा था कि अगर उन्हें सरकार बनाने का मौका नहीं मिला, तो वो सुप्रीम कोर्ट भी जा सकते हैं। ऐसे में अब राज्यपाल की ओर से भाजपा को बहुमत साबित करने का ऑफर देने के बाद क्षेत्र की स्थिति बिगड़ने की संभावना है।

यहां देखें फोटो-http://v.duta.us/NYTRHQAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬