👉विधायकों के साथ राजभवन पहुंची ✋कांग्रेस, भाजपा🌷 के खिलाफ जेडीएस का 👊प्रदर्शन

  |   समाचार / PM Modi News

कर्नाटक में विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद सरकार बनाने को लेकर पल-पल में वहां के समीकरण बदल रहे हैं। मंगलवार शाम तक जेडीएस व कांग्रेस मिलकर सरकार बनाती दिख रही थी तो बुधवार सुबह भाजपा ने पूर्ण बहुमत होने का दावा करके संशय पैदा कर दिया।

सुबह भाजपा ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने के लिए गुरुवार शाम तक समय मांगा है, वहीं कांग्रेस व जेडीएस भी अपना बहुमत साबित करने के लिए शाम करीब पांच बजे विधायकों को बैस में बैठाकर राजभवन पहुंच गई है। कुछ देर में राज्यपाल से कुमारस्वामी की मुलाकात होगी।

इधर, भाजपा की ओर से कांग्रेस व जेडीएस के विधायकों की खरीद-फरोख्त की खबरों से जेडीएस के कार्यकर्ताआें में उबाल आ गया है। वह राजभवन के सामने भाजपा के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।कांग्रेस के एमएलए बिवाईरथी बसवाराज ने कहा कि सभी 78 विधायक साथ में हैं। कोई भी बीजेपी में नहीं जा रहा है। उन्होंने रेड्डी खेमे में कुछ विधायकों के भी कांग्रेस के संपर्क में होने का दावा किया है।

कांग्रेस-जेडीएस के कुल 113 विधायक राज्यपाल वाजुभाई वाला से मिलने पहुंचे हैं, लेकिन, कांग्रेस-जेडीएस के सिर्फ 10 विधायकों को राजभवन में जाने की इजाजत दी जाएगी।जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी, कांग्रेस एमएलए जी. परमेश्वर और रेवन्ना ने राज्यपाल से मुलाकात की और कांग्रेस ने जेडीएस का सर्मथन देने का लिखित प्रस्ताव राज्यपाल को सौंप दिया है। इसके अलावा सरकार बनाने के लिए सभी विधायकों के समर्थन का पत्र भी सौंपा है।

इस बीच बीजेपी की सीनियर नेता शोभा करांडलाजे ने कहा- कर्नाटक में कांग्रेस डर्टी पॉलिटिक्स कर रही है। वो हमारे फोन टैप कर रहे हैं. चुनाव में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला, फिर इस तरह की डर्टी पॉलिटिक्स क्यों हो रही?

यहां देखें फोटो-http://v.duta.us/ytoVWwAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬