11 करोड़💴 रुपये में बिका ये बल्‍लेबाज🏏 बनेगा टीम इंडिया का👌 'द्रविड़'!

  |   क्रिकेट

केएल राहुल आईपीएल के 11वें सीजन में बल्‍लेबाजी से तहलका मचा रहा है। गेंदबाजों के पास उनको आउट करने के तरीके नहीं मिल रहे हैं। जिस आसानी से राहुल चौके और छक्‍के लगा रहे हैं वो किसी भी हैरान कर देने को काफी है। उन्‍होंने 161.73 की स्‍ट्राइक रेट से 558 रन उड़ाए हैं और वे ऑरेंज कैंप की दौड़ में दूसरे नंबर पर हैं।

उनकी टीम पंजाब प्‍लेऑफ के लिए संघर्ष कर रही है। इसकी वजह है बाकी बल्‍लेबाजों का घुटने टेक देना। केएल राहुल (558), क्रिस गेल (350) और करुण नायर(247) के अलावा कोई बल्‍लेबाज 150 रन तक भी नहीं पहुंच पाया है। जिस फॉर्म में राहुल अभी हैं उससे इंग्‍लैंड दौरे पर तीनों फॉर्मेट में उनका खेलना लगभग पक्‍का है।

केएल राहुल टेस्‍ट, वनडे और टी20 तीनों फॉर्मेट में शतक लगा चुके हैं। सबसे गजब की बात यह है कि उन्‍होंने अपने डेब्‍यू वनडे में शतक लगाया। टेस्‍ट क्रिकेट में केवल दूसरे मैच में और टी20 में चौथे मैच में शतक लगा दिया था। टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली की ही तरह राहुल तीनों फॉर्मेट में जबदस्‍त तरीके से रन बना सकते हैं।

हालांकि अभी राहुल को नियमित रूप से यह कारनामा कर खुद को साबित करना होगा लेकिन अभी तक का करियर उनके पक्ष में गवाही दे रहा है। राहुल काबिल विकेटकीपर भी हैं और इससे उनकी दावेदारी ज्‍यादा मजबूत हो जाती है।

राहुल ने आईपीएल करियर सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ शुरू किया था। दो सीजन तक वे इस टीम के साथ रहे लेकिन कुछ खास नहीं हुआ। इसके बाद वे रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर से जुड़ गए। इस टीम के लिए उन्‍होंने 397 रन बनाए। लेकिन चोट के चलते 2017 के सीजन में वे खेल नहीं पाए और 2018 के लिए आरसीबी ने उन्‍हें रीलीज कर दिया।

राहुल के नाम टी20 में दूसरा सबसे तेज शतक है तो आईपीएल में उनके नाम सबसे तेज फिफ्टी है। टेस्‍ट क्रिकेट में उनका सर्वोच्‍च स्‍कोर 199 रन है और वे एक रन से दोहरे शतक से चूके थे। टेस्‍ट में उन्‍होंने चार शतक मारे हैं और इनमें से तीन विदेशी जमीं(ऑस्‍ट्रेलिया, श्रीलंका और वेस्‍ट इंडीज) पर आए हैं। वहीं टी20 और वनडे के शतक भी विदेशों में ही बने हैं। ये दर्शाते हैं विदेशों में जहां उछाल और स्विंग ज्‍यादा होता है वहां राहुल को दिक्‍कत नहीं होती है।

बल्‍लेबाजी में निरंतरता और विकेटकीपिंग की काबिलियत के चलते केएल राहुल टीम इंडिया के लिए वही काम कर सकते हैं जो काम राहुल द्रविड़ ने किया था। द्रविड़ ने टीम की जरूरत के हिसाब से ओपनिंग भी की और निचले क्रम में भी बल्‍लेबाजी की। यहां तक कि दस्‍ताने पहनकर वर्ल्‍ड कप में विकेटकीपर भी बन गए थे।

यहां पढ़ें पूरी खबर- http://v.duta.us/1o8TuAAA

📲 Get LIVE क्रिकेट स्कोर on Whatsapp 💬