[champawat] - बजौन में पांच परिवारों को आज भी उजाले का इंतजार

  |   Champawatnews

चंपावत। जिला मुख्यालय से 15 किमी दूर बजौन ग्राम पंचायत के पांच परिवारों को आज भी बिजली का इंतजार है। ग्राम पंचायत के कानबोरा तोक में बिजली पहुंचाने के लिए सात-आठ पोलों की आवश्यकता है। ऊर्जा निगम लापरवाही ऐसी है कि इन परिवारों को विद्युतीकरण से जोड़ने के कोई प्रयास नहीं किए जा रहे हैं। ग्रामीण कृष्णानंद भट्ट, देवी दत्त भट्ट, तुलाराम भट्ट, प्रेमबल्लभ भट्ट, बेनी राम भट्ट आदि का कहना है कि ऊर्जा निगम के अधिकारियों से बार-बार गांव में बिजली सुविधा दिए जाने की मांग की मगर विभाग उनकी सुध नहीं लेता। गांव के लोगों को मोबाइल चार्ज कराने के लिए दूसरे गांवों की शरण लेनी पड़ती है। रात में रौशनी के लिए ग्रामीण चीड़ के छिलके का सहारा लेते हैं। इस संबंध में ऊर्जा निगम के अवर अभियंता आरसी पंत का कहना है कि वर्तमान में सौभाग्य योजना के तहत छूटे हुए तोकों और गांवों को बिजली सुविधा से जोड़ने का काम चल रहा है। इसमें कानबोरा तोक को भी शामिल किया जाएगा। सिलाड़ क्षेत्र में तीन दिन से नहीं आई बिजलीचंपावत। राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित सिलाड़ ग्राम पंचायत में ट्रांसफॉर्मर खराब होने से बीते तीन दिनों से बिजली आपूर्ति ठप है। ग्रामीण संजय चौड़ाकोटी के अनुसार विभागीय लाइनमैन, अधिकारियों को सूचना होने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। ग्राम पंचायत के तीस से अधिक परिवार दिक्कतों का सामना कर रहे हैं।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/BbH4BAAA

📲 Get Champawat News on Whatsapp 💬