[dehradun] - पक्के घाटों पर डुबकी लगा सकेंगे पर्यटक

  |   Dehradunnews

ब्यूरो/अमर उजाला,ऋषिकेश। पौड़ी के दो ब्लॉकों के लगभग ढाई सौ गांवों के लोगों को जल्द फूलचट्टी में गंगा व हेंवल नदी के संगम पर स्नान के लिए पक्के घाटों की सुविधा मिल सकेगी। इसके अलावा इन गांवों के लोगों को मृत देह के दाह संस्कार के लिए श्मशानघाट की सुविधा भी मिल जाएगी। वहीं नीलकंठ धाम जाने वाले शिव भक्त भी पक्के घाट पर आसानी से डुबकी लगा सकेंगे। नमामि गंगे योजना के तहत करीब पांच करोड़ की लागत से कार्यदायी संस्था यहां स्नानघाट व श्मशान घाट का निर्माण करा रही है। गौरतलब है कि यमकेश्वर प्रखंड के करीब सवा दो सौ से अधिक गांवों और द्वारीखाल ब्लॉक के लगभग 40 से 50 गांवों के लोग अब तक पर्व त्योहारों पर हेंवल व गंगा के फूलचट्टी संगम पर पथरीले नदी तट पर डुबकी लगाने को मजबूर थे। निर्माणाधीन स्नान घाट योजना की खासियत यह होगी कि घाट पर स्नानार्थियों को शीतकाल और वर्षाकाल में दोनों समय जलधारा उपलब्ध हो सकेगी, जिसके लिए नदी के जीरो लेवल से वर्षाकाल में हाई फ्लर्ड लेवल तक बाकायदा सीढ़ियों का प्रावधान किया गया है। इससे लोगों को दोनों ही मौसम में गंगा स्नान में आसानी रहेगी। इसके अलावा परियोजना में स्नानार्थियों के लिए चेंजिंग रूम, सुस्ताने के लिए बैंच, टीनशेड और सुरक्षा के लिए चेन और रेलिंग की सुविधा भी मिलेगी। दशकों बाद बने रहा है श्मशान घाट यमकेश्वर व द्वारीखाल ब्लॉक के गांवों को दशकों बाद फूलचट्टी संगम के समीप मृतकों के शवदाह के लिए पक्का श्मशान घाट मिल सकेगा। उक्त क्षेत्र इन गांवों का पैतृक श्मशान स्थल है, जहां पर अब तक पक्का श्मशानघाट नहीं था। शवदाह के लिए आने वाले लोगों को नदीतट पर पत्थरों में रखकर अंत्येष्टि करनी पड़ती थी। वर्षाकाल में अक्सर कई शव बारिश आने से अधजले रह जाते थे, जिन्हें दाह संस्कार के बाद नदी में बहा दिया जाता था। वहीं गर्मी के दिनों में लोगों को तपती धूप में शवदाह के लिए मजबूर होना पड़ता था। श्मशान घाट पर एक समय में एक से अधिक शवों के दाह संस्कार के लिए भी पर्याप्त व्यवस्था जुटाई जा रही है। कोट्सफूलचट्टी में स्नान घाट व श्मशान घाट का कार्य 80 फीसदी तक पूरा हो चुका है। थोड़ा सा काम बाकी रह गया है। 30 मई तक कार्य पूर्ण कराने का प्रयास किया जा रहा है, इसके बाद श्रद्धालुओं को डुबकी लगाने की सुविधा मिलने लगेगी। - अजीत शर्मा, प्रोजेक्ट मैनेजर वेबकॉस ।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/AllekAAA

📲 Get Dehradun News on Whatsapp 💬