[firozabad] - टैक्स जमा कराने आए युवकों को नगर निगम में बंद कर पीटा

  |   Firozabadnews

फिरोजाबाद। नगर निगम में टैक्स जमा कराने आए युवकों को कर्मचारियों ने कमरे में बंद कर मारपीट कर दी। निगम में हंगामा और मारपीट की घटना से कर्मचारी अपने-अपने कक्षों से निकल आए। कर्मचारियों का आरोप था कि युवक ने रिवाल्वर तानी थी। सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों युवकों को थाने ले आई।

नगला करन सिंह गली नंबर एक निवासी विनोद राठौर अपने साथी दिनेश प्रताप सिंह निवासी रानीनगर गली नंबर दो के साथ नगर निगम में मकान का टैक्स जमा करने के लिए फार्म पर साइन कराने आए थे। विनोद राठौर ने कहा फार्म पर साइन कराने के नाम पर नगर निगम के कर्मचारी छकौड़ी लाल ने पांच हजार रुपये मांगे। विरोध करने पर कर्मचारी ने कहा कि पैसे तो लगते हैं और देने पड़ेंगे। इसी बात को लेकर विवाद होने पर मामला गाली-गलौज से बढ़कर मारपीट तक पहुंचा तो कर्मचारी एकत्र हो गए।

कर्मचारियों ने पहले नगर निगम का मुख्य गेट बंद दिया। इसके बाद कर्मचारियों ने दोनों युवकों को एक कमरे में बंद कर जमकर पीटा। दिनेश प्रताप के मुंह में खून आने लगा। निगम में मारपीट की घटना से अफरातफरी मच गई। मामला बढ़ता देख नगर निगम कर्मचारियों ने डायल 100 को फोन किया। आरोप है विनोद राठौर ने कर्मचारियों पर रिवाल्वर तानी है। मौके पर पहुंची पुलिस दोनो युवका को थाने ले गई। पुलिस ने घायलों का मेडिकल कराया है। नगर निगम के कर संग्रहकर्ता छकौड़ीलाल का कहना कि रुपये मांगने का आरोप झूठा है। युवकों ने कर्मचारियों से मारपीट की है।

सामाजिक कार्यकर्ता सतेंद्र जैन सौली को नगर निगम कर्मचारियों ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा था। सामाजिक कार्यकर्ता को गंभीर चोटें आईं थीं। मामले की शिकायत शासन-प्रशासन तक पहुंची, लेकिन दोषी कर्मचारियों पर आजतक कोई कार्रवाई नहीं हुई। जबकि इस मामले में रिपोर्ट दर्ज हो चुकी है। समझौते का दवाब नगर निगम प्रशासन ने बनाया लेकिन सौली ने समझौता नहीं किया और आज भी वो व्यवस्था के खिलाफ न्याय की जंग लड़ रहे हैं।

तत्कालीन एसडीएम सदर, प्रभारी ईओ विजय कुमार के कार्यकाल में हिमायूंपुर की प्यासी जनता को नगर निगम कर्मचारियों ने मेनगेट बंद कर दौड़ा-दौड़ा कर पीटा था। उस मामले में कर्मचारी निशाने पर आए थे, लेकिन दबाव बनाकर मामला रफादफा करा दिया।

तत्कालीन चेयरमैन राकेश दिवाकर के कार्यकाल में दतौजी के पार्षद को कर्मचारियों ने जमकर पीटा था। मामले की शिकायत डीएम, एसडीएम, सिटी मजिस्ट्रेट तक पहुंची थी, लेकिन दोषी कर्मचारियों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

नगर निगम में हुई मारपीट का मामला नगर निगम पहुंचा। पिटाई का शिकार युवक का पुलिस ने मेडिकल कराया। इसके बाद आरोपी नगर निगम कर्मचारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की तैयारी शुरू कर दी। मुकदमा लिखे जाने से पहले ही समझौते की कोशिश शुरू हो गईं। थाना प्रभारी उत्तर ने कहा कि विनोद राठौर के पास से मिली रिवाल्वर लाइसेंसी है। घायल दिनेश का पुलिस ने मेडिकल कराया है। दोनों पक्षों के बीच समझौते की बात चल रही है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/EcOcsQAA

📲 Get Firozabad News on Whatsapp 💬