[ghazipur] - एनएच पर लग रहा जाम लोगों के लिए सिरदर्द बना

  |   Ghazipurnews

गाजीपुर/सैदपुर। वाराणसी-गाजीपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाम की समस्या राहगीरों के लिए जी का जंजाल बन गई है। महीने भर से रोजाना जाम लग रहा है। एनएच पर नंदगंज से लेकर सैदपुर और औड़िहार तक का रास्ता स्थानीय लोगों के लिए सिरदर्द बना हुआ है। जाम के चलते पूरे दिन वाहनों के प्रेशर हॉर्न के चलते आवागमन भी प्रभावित हो रहा है। आलम यह है कि सैदपुर में सौ से पांच सौ मीटर की दूरी तय करने में भी नगरवासियों को घंटों समय लग रहा है। जाम के चलते महिलाओं, लड़कियों और बच्चों को लोग किसी काम से नगर में भेजने से गुरेज कर रहे हैं। पुलिस के अथक प्रयास तथा स्थानीय लोगों के सहयोग के बाद भी रात से शुरू जाम को खत्म होने में आधा दिन लग जा रहा है। पुलिस के साथ इस समस्या से लड़ने के लिए प्रशासनिक अफसर भी देर रात तक सड़क पर समय काट रहे हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग 24/29 गाजीपुर-सैयदराजा मार्ग पर भारी वाहनों के संचालन पर रोक लगने से मार्ग से होकर गुजरने वाले वाहनों का लोड वाराणसी-गाजीपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर पड़ रहा है। जिससे हर समय जाम की स्थिति उत्पन्न रह रही है। लोग इस मार्ग पर सफर करना मुसीबत को आमंत्रण देना बता रहे हैं। एनएच पर जाम का सबसे ज्यादा प्रभाव अलग-अलग जिलों से इलाज के लिए वाराणसी जा रहे मरीजों पर पड़ रहा है। वाराणसी के लिए अन्य मार्ग न होने से जाम में मरीज फंस रहे हैं और दम तोड़ दे रहे हैं। युवा शक्ति संघ के प्रवक्ता शमशेर सिंह ने बताया कि जाम में बीते एक माह में पांच बीमार लोगों ने दम तोड़ दिया है, जिन्हें गंभीर स्थिति में इलाज के लिए वाराणसी ले जाया जाय रहा था सोमवार को रात आठ बजे जाम में फंसे एक एंबुलेंस को संघ के कार्यकर्ता निकालने का प्रयास कर रहे थे। इसके बाद भी एंबुलेंस में मऊ निवासी दस वर्षीय बालक ने अपने मां की गोद मे दम तोड़ दिया। संघ के अध्यक्ष सुनील यादव ने कहा कि जाम में स्कूली बच्चों ,और मरीजों की यातना के साथ ही नगर का सामान्य परिवहन प्रभावित हो रहा है। इस क्रम में सोमवार को रात्रि नगर उद्योग व्यापार मंडल का एक प्रतिनिधि मंडल व्यापार मंडल के कोषाध्यक्ष अविनाश चंद्र बरनवाल के नेतृत्व में प्रभारी निरीक्षक शरद चंद्र त्रिपाठी से मिला और नगर में बेतरतीब खड़े ट्रकों को विभिन्न जगहों पर पार्क कराने की व्यवस्था की मांग की। कहा कि जाम के चलते व्यवसायिक गतिविधियों के प्रभावित होने के साथ नगर में कानून व्यवस्था की समस्या खड़ी हो रही है। प्रतिनिधि मंडल में महामंत्री बसंत सेठ, चंद्रशेखर जायसवाल, सुमन कमलापुरी, एडवोकेट इरफान खान आदि मौजूद रहे। इसी क्रम में मंगलवार को ट्रकों को रात दस बजे के पूर्व नगरीय क्षेत्र से बाहर विभिन्न जगहों पर पार्किंग में खड़ा करने के लिए युवा शक्ति संघ के नेतृत्व में स्थानीय लोगों ने उपजिलाधिकारी और कोतवाल को पत्रक सौंपा। पत्रक देते समय संघ के अध्यक्ष सुनील यादव, शमशेर सिंह, रामअवध यादव, आशु दुबे, पूर्व सभासद इमरान अब्बासी, पंकज अग्रवाल, विनोद यादव, मुन्ना लाल, पंकज वेद श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/KjATwQAA

📲 Get Ghazipur News on Whatsapp 💬