[ghazipur] - मोदी, योगी सरकार में किसानों की स्थिति बद से बदतर हुई

  |   Ghazipurnews

गाजीपुर। अखिल भारतीय किसान महासभा की जिला इकाई की ओर से मंगलवार को विभिन्न सवालों को लेकर स्थानीय कार्यालय से जुलूस निकाला गया। विभिन्न रास्तों से होता हुआ जुलूस सरजू पांडेय पार्क में धरना में तब्दील हो गया। इस अवसर पर आयोजित सभा में महासभा के जिला संयोजक विजय बहादुर सिंह ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार के चार वर्ष और योगी सरकार के एक वर्ष के कार्यकाल में किसानों की स्थिति बद से बदतर हुई है। उन्होंने कहा कि दोनों सरकारों की किसान विरोधी नीतियों के चलते किसानों की आत्महत्या का दौर रुक नहीं रहा है। बिजली और सिंचाई रेट में वृद्धि और खाद-बीज की बेतहाशा मूल्यवृद्धि के चलते खेती घाटे का सौदा बन गई है। किसानों की फसल और सब्जी का कोई समर्थन मूल्य नहीं है। इसलिए जरूरी है कि मोदी सरकार वादाखिलाफी बंद करे और किसानों की फसल का डेढ़ गुना दाम देना सुनिश्चित करें। उन्होंने किसानों की संपूर्ण कर्ज मुक्ति की मांग उठाई। कमलाकर राम ने कहा कि गाजीपुर में ओपियम फैक्ट्री है लेकिन पोस्ता की खेती करने का लाइसेंस जिले के किसानों को नहीं है। फोरलेन सड़क के नाम पर किसानों की जमीन बगैर मुआवजा दिए छीनी जा रही है। किसान संगठन इसे बर्दाश्त नहीं करेगा। कहा कि किसानों को पोस्ता की खेती का लाइसेंस जारी करो आदि सवालों को लेकर महासभा गांव-गांव में जन अभियान चलाकर आंदोलन संघर्ष को तेज करेगा। सभा में आजाद यादव, डा. रणवीर सिंह, गुलाब सिंह, नंदकिशोर बिंद, विनोद कुशवाहा, मनोहर यादव, मनोज कुशवाहा, सगीर ने विचार व्यक्त किया। अध्यक्षता प्रमोद कुशवाहा ने की।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/b7EF-AAA

📲 Get Ghazipur News on Whatsapp 💬