[mainpuri] - वेदांत के हौसले और मेधा को सफलता का सलाम

  |   Mainpurinews

मैनपुरी। असाध्य रोग भी मेधावियों के हौसलों को पराजित नहीं कर सकते हैं, यदि सच्ची लगन और मेहनत के साथ कार्य किया जाए तो गंभीर बीमारियों को भी मात देकर बेहतर कार्य किया जा सकता है। यह कर दिखाया है जागीर विकास खंड के गांव तारापुर निवासी वेदांत तोमर ने। वेदांत ने आईसीएसई की 10वीं परीक्षा में जिले में आठवां स्थान पाया है।

तारापुर निवास शिक्षक सुसेंद्र सिंह तोमर का पुत्र वेदांत तोमर वर्ष 2015 से ब्लड कैंसर से पीड़ित है। उसका मुंबई के टाटा मेमोरियल अस्पताल में उपचार चल रहा है। वेदांत ने आईसीएसई 10वीं की परीक्षा में 92.2 प्रतिशत अंकों के साथ जनपद की टॉप टेन सूची में आठवां स्थान पाया है। उसने अंग्रेजी में 84, हिंदी में 98, एचसीजी में 92, गणित में 88, विज्ञान में 82, कंप्यूटर में 99 अंक के साथ कुल 461 अंक हासिल किए हैं।

वेदांत की मां प्रीती चौहान एक निजी स्कूल में शिक्षिका हैं, जबकि पिता सुसेंद्र तोमर प्राथमिक विद्यालय दयालपुर सुल्तानगंज में शिक्षक के रूप में तैनात हैं। वेदांत की इस सफलता से परिवार में खुशी की लहर है। वेदांत अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता और गुरुजनों को देता है। कैंसर की बीमारी से जूझ रहे वेदांत का सपना पढ़ लिखकर कैंसर का डॉक्टर बनना है। बेहतर नंबर से पास वेदांत ने कहा कि वह कैंसर का डाक्टर बनकर जरूरतमंदों की मदद करना चाहता है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/mhkDBQAA

📲 Get Mainpuri News on Whatsapp 💬