[sonebhadra] - परिषदीय स्कूलों के बच्चों को मिलेगी दाल

  |   Sonebhadranews

बच्चों की शिक्षा के साथ उनकी सेहत सुधारने की दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं। शासन ने मध्याह्न भोजन में बच्चों को पौष्टिक अरहर की दाल वितरित करने का निर्देश दिया है। शासन द्वारा नामित नैफेड विभाग दाल की आपूर्ति करेगा। जुलाई माह से बच्चों को अरहर की दाल परोसी जाने लगेगी। इसके लिए शिक्षकों को निर्देशित कर दिया गया है। सूबे के एक छोर पर बसे सोनभद्र में शिक्षा का स्तर सुधारने केे लिए केंद्र और प्रदेश सरकार पानी की तरह धन खर्च कर रही है। मीड डे मील योजना के तहत वर्ष 2017-18 में 1804 प्राथमिक विद्यालयों में अध्ययनरत 178100 और 654 उच्च प्राथमिक विद्यालयों के 67589 छात्र-छात्राओं को मुफ्त में भोजन दिया जा रहा है। बावजूद इसके प्रतिदिन करीब 65-75 प्रतिशत बच्चे ही स्कूलों में पठन-पाठन के लिए पहुंच रहे हैं। नक्सल-दुरूह इलाकों के स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति सबसे कम होती है। क्योंकि अधिकांश स्कूलों में मेनू के हिसाब से बच्चों को मध्याह्न भोजन नहीं दिया जाता है। जबकि विभागीय अधिकारियों की ओर से शिक्षकों को सख्त हिदायत दी गई है कि मेनू के अनुसार भोजन दिया जाए। योगी सरकार ने बच्चों की शिक्षा के साथ उनकी सेहत सुधारने के लिए पौष्टिक दाल देने का निर्णय लिया है। स्कूलों में दाल की आपूर्ति कराने के लिए एक विभाग को जिम्मेदारी दी गई है। क्योंकि अक्सर अधिकारियों को शिकायतें प्राप्त होती है कि शिक्षकों द्वारा अच्छी क्वालिटी की दाल बच्चों को नहीं दी जा रही है। इस संबंध में जिला बेसिक शिक्षाधिकारी डॉ. गोरखनाथ पटेल ने कहा कि शासन से नामित नैफेड विभाग जुलाई से स्कूलों में अरहर की दाल की आपूर्ति शुरू कर देगा। ताकि बच्चों को पौष्टिक दाल मिल सके ।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/IsWNBQAA

📲 Get Sonebhadra News on Whatsapp 💬