[agra] - गेहूं खरीद में नाम किसी का, भुगतान किसी और को हो रहा

  |   Agranews

कासगंज।जिले में गेहूं की खरीद में केंद्र प्रभारियों की मनमानी कम होने का नाम नहीं ले रही। केंद्र प्रभारियों ने खरीद में नाम तो किसान का दर्ज कर लिया, लेकिन भुगतान किसी अन्य के खाते में कर दिया। इस सनसनीखेज मामले का खुलासा होने के बाद 10 केंद्र जांच के घेरे में आ गए हैं।शासन के निर्देशों को क्रय केंद्र प्रभारी धता बता रहे हैं। क्रय केंद्रों पर बिचौलियों का बोलबाला है। केंद्र प्रभारी सांठगांठ करके गेहूं की खरीद कर रहे हैं। खरीद में फर्द तो किसानों की लगाई जा रही है, लेकिन गेहूं का भुगतान किसी दूसरे के खाते में किया जा रहा है। इस तरह की तमाम शिकायतें जिला प्रशासन के संज्ञान में आई है। 10 केंद्र ऐसे चिह्नित किए हैं। जिन्होंने खरीद के औसत से अधिक की खरीद की है। ये केंद्र जांच के घेरे में आ गए है। केंद्रों पर बिक्री करने वाले किसानों का अब सत्यापन किया जाएगा। डीएम ने जनपद के तीनों उपजिलाधिकारी को जांच सौंपी है। जांच में दोषी पाए जाने वाले केंद्र प्रभारियों पर रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।क्रय केंद्रों के कांटों की होगी जांचकासगंज। क्रय केंद्रों पर कांटों में हेराफेरी की शिकायत पर जिलाधिकारी ने इसके लिए सहायक नियंत्रक विधिक माप को कांटों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं।ये क्रय जांच के घेरे मेंक्षेत्रीय सहकारी समिति नादरमई अमांपुरक्षेत्रीय सहकारी समिति सोरोंक्षेत्रीय सहकारी समिति न्योली नगरियाक्षेत्रीय सहकारी समिति पटियालीक्षेत्रीय सहकारी समिति गंजडुंडवारा एट बस्तरक्षेत्रीय सहकारी समिति नबाबगंज नगरिया एट कादरगंजक्षेत्रीय सहकारी समिति सनौड़ीक्षेत्रीय सहकारी समिति पिथनपुरसहकारी क्रय विक्रय समिति मंडी परिसरक्रय केंद्रों पर ऑनलाइन खरीद को ही वास्तविक खरीद माना जाएगा। क्रय केंद्र प्रभारी किसानों को 10 दिन से अधिक का टोकन नहीं दे सकेंगे। क्रय केंद्र पर टोकन रजिस्टर भी बनाना होगा।-विजय कुमार शुक्ला, जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/qxTS2wAA

📲 Get Agra News on Whatsapp 💬