[barabanki] - चांद दिखा, एक दूसरे को दी मुबारकबाद

  |   Barabankinews

रमजान-उल मुबारक का चांद देखने के लिए आज शिया व सुन्नी उलमा देर शाम तक ईदगाह की छतों पर जुटे रहे। कमेटी द्वारा चांद का ऐलान होते ही सभी ने एक दूसरे को मुबारकबाद दी। मस्जिदों में तारावीह शुरू हो गई। चांद कमेटी के अध्यक्ष मोहम्मद जुबेर अहमद किदवई ने बताया कि चांद दिखने की तस्कीद हो गई है, तरावीह शुरू हो गई है और गुरुवार को पहला रोजा होगा। वहीं रोजदारों के लिए बाजार में खजूर की दुकानें सज गई हैं।

शरई एतवार से खजूर जन्नती फल है इसका जिक्र कुरआन पाक में भी है। खजूर से रोजा खोलना सुन्नत है। इफ्तार के समय हर रोजदार के मुंह में पहला लुकमा खजूर ही होता है। दिन भर की प्यास बुझाने में भी खजूर बड़ा फायदेमंद होता है। माह-ए-रमजान में खजूर की दुकानों पर 120 से लेकर 3 हजार रुपये किलो तक खजूर मौजूद है।

चांद होने के बाद इबादत से रोशन होंगी मस्जिदें

रमजान-उल मुबारक को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इसको लेकर साफ सफाई के इंतजाम किए गए हैं। मस्जिद जाने वाले मार्ग पर चूने का छिड़काव कराया जा रहा है। रमजान माह भर जलापूर्ति दिन भर रहेगी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Nc3N8wAA

📲 Get Barabanki News on Whatsapp 💬