[basti] - प्रधानों ने एसबीआई शाखा का घेराव किया

  |   Bastinews

कप्तानगंज।

ब्लॉक क्षेत्र के प्रधानों ने बुधवार को एसबीआई कप्तानगंज की शाखा का घेराव कर विरोध-प्रदर्शन किया। शाखा प्रबंधक पर तमाम आरोप मढ़े। इसके चलते घंटों बैंक का कार्य प्रभावित रहा। बाद में मौके पर पहुंची पुलिस के हस्तक्षेप पर मामला शांत हुआ।

प्रधान संघ के अध्यक्ष कपिल देव चौधरी की अगुवाई में बैंक परिसर में जुटे दो दर्जन से ज्यादा ग्राम प्रधानों ने शाखा प्रबंधक तथा बैंक कर्मियों पर मनमानी का आरोप लगाते हुए कहा कि इस शाखा में मात्र छह हजार रुपये के बियरर चेक का भी भुगतान लाभार्थियों को नकद नहीं किया जाता। इसके चलते भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना शौचालय निर्माण की प्रगति प्रभावित हो रही है। बैंक कर्मी ऐसे चेक को खातों में डालने का आदेश सुनाते हैं, जो नियम के खिलाफ है। आरोप लगाया कि केवाईसी अपग्रेडेशन के लिए उपभोक्ताओं को महीनों दौड़ाया जाता है। यह भी कहा कि यहां सभी कार्य बिचौलियों के हवाले कर दिया गया है। इसी के नाते सभी को परेशान किया जाता है, जिससे वे मजबूर होकर बिचौलियों के शरण में चले जाएं। इन स्थितियों को सुधारने के लिए भी प्रयास किए गए, मगर बात नहीं बनी तब मजबूरी में आंदोलन का रास्ता अपनाना पड़ा है। इस दौरान ग्राम प्रधान राम स्वरूप सिंह, रामजीत यादव, राममिलन चौधरी, मनोज कुमार, राम प्रसाद यादव, दिनेश चौधरी, कन्हैया लाल, चंद्र प्रकाश चौधरी, चंद्र प्रकाश यादव सहित दो दर्जन से ज्यादा प्रधानों ने बैंक प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी कर आक्रोश व्यक्त किया। प्रधानों ने क्षेत्रीय प्रबंधक को भी इससे अवगत कराया। मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने दोनों पक्षों को शांत तो करा दिया लेकिन अब भी आक्रोश कायम है।

शाखा प्रबंधक आनंद कुमार ने बताया कि ग्राम प्रधानों द्वारा कई बियरर चेक एक साथ लाकर भुगतान का दबाव बनाया जाता है, जबकि बियरर चेक का भी भुगतान लाभार्थी को ही कोई पहचान पत्र देने पर ही करने का प्रावधान है। उक्त के चलते बौखलाए ग्राम प्रधानों ने मिथ्या दोषारोपण करते हुए अपशब्द तो कहे ही बैंक कार्य में बाधा भी डाली। इसके लिए हम विधिसम्मत कार्रवाई के लिए मजबूर हैं। इसके लिए पुलिस को तहरीर दी गई है। इधर, थानाध्यक्ष अनिल कुमार दूबे ने बताया कि बैंक परिसर में शाखा प्रबंधक और प्रधानों के बीच कहासुनी हुई है। मौके पर उप निरीक्षक भीम सिंह को भेजा गया था। दोनों पक्षों से बातचीत कर मामला शांत करा दिया है। अभी तक किसी पक्ष ने कोई तहरीर थाने पर नहीं दी है। यदि तहरीर मिली तो विधिसम्मत कार्रवाई की जाएगी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/m0A_vAAA

📲 Get Basti News on Whatsapp 💬