[jalandhar] - फगवाड़ा गोल चौंक विवाद में जातीय हिंसा के मामले में दलित नेता हरभजन सुमन ने किया आत्मसर्मपण

  |   Jalandharnews

सुमन ने सिट के समक्ष किया आत्मसमर्पणपुलिस ने दलित समाज से संबंधित चार अन्य युवकों को दबोचा अमर उजाला ब्यूरोफगवाड़ा। बीती 13 अप्रैल की रात गोल चौक में बोर्ड लगाने को लेकर हुए विवाद व जातीय हिंसा के मामले में दर्ज पुलिस केसों में जनरल समाज मंच की महासभा के ठीक पहले नाटकीय ढंग से अंबेडकर सेना मूल निवासी के अध्यक्ष हरभजन सुमन ने जांच के लिए बनाई गई सिट (स्पेशल जांच टीम ) के आगे आत्मसमर्पण कर दिया। वहीं पुलिस ने मामले में दलित समाज से संबंधित चार अन्य युवको को गिरफ्तार कर लिया। हिंसा के संबंध में पुलिस ने दो एफआईआर दर्ज की थी। इस जनरल समाज के चार नामजद लोगों को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसे लेकर पुलिस प्रशासन पर एक पक्षीय कार्यवाही के आरोप लग रहे थे। दलित समाज के लोगों की गिरफ्तारी न होने को लेकर जनरल समाज मंच ने बाद दोपहर को महासभा का आयोजन किया था। इससे पहले सुमन ने न्याय प्रक्रिया पर भरोसा जताते हुए आत्मसमर्पण कर दिया। सिट प्रभारी एसपी एच जसकरण सिंह तेजा ने बताया कि सुमन के अलावा पुलिस ने केस में बलजिंदर सिंह पुत्र बीरबल, संजीव कुमार पुत्र अमरनाथ, दविंदरदीप पुत्र चुन्नी वासी मोहल्ला संतोखपुरा, प्रदीप अंबेडकरी पुत्र संसार चंद वासी खलवाड़ा गेट को गिरफ्तार किया है। सभी को अदालत में पेश किए जाने पर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इसी प्रकार इस विवाद के बाद पलाही गेट में साजिशन एक ब्राह्मण परिवार के सदस्यों की मारपीट करने के मामले में पुलिस ने चार दलित समुदाय से संबंधित बोबी पुत्र चरणजीत,रोहित पुत्र चरणजीत,सुरिंदर उर्फ सोनु पुत्र महिंदरपाल,योगेश उर्फ आशु पुत्र दविंदर वासी पलाही गेट गिरफ्तार किया। अदालत ने सभी न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/bdonVQAA

📲 Get Jalandhar News on Whatsapp 💬