[mainpuri] - कैसे हो विवरण ऑनलाइन, नहीं है स्पष्ट गाइड लाइन

  |   Mainpurinews

मैनपुरी। शासन ने वित्तविहीन कालेजों के शिक्षकों का ब्यौरा ऑनलाइन कराए जाने के निर्देश दिए हैं, लेकिन इस संबंध में कोई गाइड लाइन जारी नहीं की गई है। जिससे कालेज संचालकों को ऑनलाइन ब्यौरा दर्ज करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। शासन के निर्देश पर सचिव माध्यमिक शिक्षा परिषद ने डीआईओएस कार्यालय को पत्र भेजकर जनपद के सभी वित्तविहीन कालेजों के प्रधानाचार्य व शिक्षकों का विवरण ऑनलाइन विद्यालय की आईडी पर अपलोड किए जाने के निर्देश दिए हैं।

20 मई तक सभी कालेजों को अपना डाटा अपलोड कराना है, लेकिन इस संबंध में कोई गाइड लाइन नहीं दी गई है जिससे कालेज संचालकों को डाटा फीड कराने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। डीआईओएस कार्यालय की मानें तो वर्ष 2010 से पहले की मान्यता वाले कालेजों के शिक्षकों तथा प्रधानाचार्यों का विवरण अपलोड कराया जाना है, लेकिन इस संबंध में पूछने पर वे भी कोई शासनादेश नहीं दिखा पा रहे हैं। जनपद में वर्तमान में 499 वित्तविहीन कालेज संचालित हैं जिनमें से 187 के स्टाफ को ही पूर्व में मानदेय दिलाया गया था।

कई कालेजों के प्रधानाचार्यों ने बताया कि विद्यालय की आईडी और पासवर्ड जो विभाग द्वारा दिया गया है वो डालने के बाद भी विद्यालय को डाटा ओपन नहीं हो रहा है। जिसके चलते शिक्षकों का विवरण ऑनलाइन दर्ज नहीं हो पा रहा है। कुछ विद्यालय जिनके पास वर्ष 2010 से पहले कक्षा 10 की ही मान्यता थी। बाद में उन्हें 12वीं की भी मान्यता मिल गई। ऐसे में किसी प्रकार की गाइड लाइन नहीं कि वे केवल 10वीं तक के स्टाफ का विवरण अपलोड करें या फिर 12वीं का भी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/UuuSLgAA

📲 Get Mainpuri News on Whatsapp 💬