[pilibhit] - रोडवेज बस की टक्कर से बुजुर्ग की मौत

  |   Pilibhitnews

लीड16 पीबीटीपी 15 रोडवेज बस की टक्कर से बुजुर्ग की जान गईरोडवेज गेट पर चालक की लापरवाही से हुआ हादसा मृतक की शिनाख्त में जुटी पुलिस, शव पीएम को भेजाअमर उजाला ब्यूरो पीलीभीत।रोडवेज बस की टक्कर लगने से बुधवार सुबह करीब पौने दस बजे 65 वर्षीय अज्ञात वृद्ध की मौके पर मौत हो गई। हादसा रोडवेज गेट पर हुआ। इसकी सूचना मिलने पर सीओ सिटी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और जानकारी जुटाई। शव को कब्जे में लेकर शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं। हादसे के बाद चालक बस लेकर भागने में कामयाब रहा।रोडवेज गेट पर एक 65 वर्षीय बुजुर्ग बुधवार सुबह बस का इंतजार कर रहे थे। इसके बाद रोडवेज परिसर के भीतर जाने लगे। इस बीच घन्नई ताल की तरफ से आ रही एक रोडवेज की बस ने उनको पीछे से टक्कर मार दी। हादसे में वृद्ध की मौके पर ही मौैत हो गई। इसके बाद चालक बस लेकर मौके से ईदगाह की तरफ भाग गया। बुजुर्ग को लहूलुहान पड़ा देख आसपास के दुकान व मौके पर मौजूद रोडवेज कर्मचारी जमा हो गए। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। कुछ ही देर में सीओ सिटी धर्म सिंह मार्छाल, कोतवाल अनिल कुमार, कमल्ले चौकी प्रभारी निर्देश चौहान पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। लोगों से बातचीत कर हादसे की जानकारी जुटाई गई। जिसमें बस का नंबर पुलिस को मिल सका। रोडवेज परिसर में तलाशने का काफी प्रयास किया गया, लेकिन बस नहीं मिल सकी। इसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। शव के पास से कोई ऐसा कागजात नहीं मिल सका, जिससे उसकी पहचान की जा सके। इसके लिए आसपास के थानों की पुलिस को भी शव का फोटो देकर शिनाख्त के लिए लगाया गया है। 000 16 पीबीटीपी 16 सड़क पर बेतरतीब खड़ी बसें बिगाड़ रही हालातहादसे के बाद एक बार फिर रोडवेज बसों के बेतरतीब तरीके से खड़े होने और चालकों के लापरवाही से गाड़ी चलाने की बात खुलकर सामने आ गई है। जिस इलाके में एक्सीडेंट हुआ है, वहां पर बसों की स्पीड भी अधिक हो सकती। लंबे समय से रोडवेज की बसें हो या फिर पास के ही अमरिया अड्डे की प्राइवेट बसें सड़क पर जहां-तहां खड़ी कर दी जाती है। इसके बाद दूसरी बसों को निकालने के लिए उनके चालक मनमानी तरीके से वाहन चलाते है, जिससे हादसे का डर बना रहता है। बुधवार को हादसे के बाद मौके पर जमा लोगों ने इसको लेकर भी सीओ सिटी से मौखिक शिकायत की। जिस पर सीओ ने विभागीय स्तर से कार्रवाई का भरोसा दिलाया। साथ ही सख्ती करने की बात कही है। 000 शव की शिनाख्त नहीं हो सकी है। उसको 72 घंटे कब्जे में लेकर पहचान कराने का प्रयास किया जा रहा है। हादसा करने वाली बस का नंबर मिल गया है। एआरएम से इसकी डिटेल मांगी गई है। सड़क पर बेतरतीब तरीके से खड़ी बसों पर शिकंजा कसने के लिए डीएम से बात कर रोडवेज के अफसरों को नोटिस भेजा जाएगा। धर्म सिंह मार्छाल, सीओ सिटी

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/YrrQjwAA

📲 Get Pilibhit News on Whatsapp 💬