[sirmour] - सरकार बच्चों की सुरक्षा को लेकर कितना चिंतित

  |   Sirmournews

अमर उजाला ब्यूरो

पांवटा साहिब (सिरमौर)।

महोदय, हम जानना चाहते हैं कि स्कूली बच्चों की सुरक्षा को लेकर सत्ता पक्ष कितना गंभीर है। क्या सरकार की ओर से हादसों, आत्मरक्षा व निजी सुरक्षा को लेकर कोई ठोस कदम उठाए जा रहे हैं या फिर सत्ता में काबिज होने के बाद नेता जनता के दुख दर्द व मांगों को भूल रहे हैं।

ये ज्वलंत सवाल बुधवार को राजकीय उच्च पाठशाला सैनवाला मुबारिकपुर स्कूल में छात्र संसद में उठाया गया। सत्ता पक्ष व विपक्ष में विभिन्न मुद्दों को लेकर जमकर लंबी बहस चली। छात्र संसद में सत्ता पक्ष की लीडर मनीषा व विपक्ष के प्रमुख नेता अरुण कुमार के बीच बढ़ते आतंकी हमलों, सेना के जवानों पर पत्थराव, बढ़ती महंगाई, पेट्रो उत्पादन के निरंकुश होते दाम, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, बेहतर टाउन एंड कंट्री प्लानिंग, सड़क हादसों के ग्राफ को कम करने व स्कूलों में शिक्षारत नौनिहालों को बेहतर शिक्षा व सुरक्षा को लेकर संसद में जमकर बहस चली।

इस दौरान विपक्ष के छात्र संसद नेता अरुण कुमार की टीम ने कई बार सत्ता पक्ष के नेताओं को कुछ मुद्दों को लेकर जमकर घेरा। कई मुद्दों को लेकर तीखी बहस भी चलती रही। इस दौरान सत्ता पक्ष की मुखिया मनीषा ने शालीनता से सभी प्रश्नों के जवाब दिए। स्कूल के मुख्याध्यापक

अश्वनी शर्मा ने कहा कि युवा संसद में बच्चों की चर्चा व मुद्दों को लेकर बहस सराहनीय रही। युवा टीम की परिचर्चा से अन्य स्कूली बच्चों ने भी सवाल-जवाब किया। इस अवसर पर मुख्य अध्यापक अश्वनी शर्मा, सविता शर्मा, कुशल मितल, लायक राम रावत, दिनेश कुमार, संगीता खंडूजा, नरेश कुमार समेत स्कूल स्टाफ सदस्य मौजूद रहे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/d08s3gAA

📲 Get Sirmour News on Whatsapp 💬