[solan] - ट्रेकिंग डिवाइस से ढूंढ निकाला चोरी हुआ ट्रक

  |   Solannews

दाड़लाघाट (सोलन)। बाघा गांव से चोरी हुए ट्रक को पुलिस ने आनंदपुर साहिब के पास से बरामद कर लिया है। ट्रक को जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम के जरिये बरामद किया गया। चालक ने ट्रक में जीपीएस लगा रखा था। इस कारण ट्रक को खोजने में ज्यादा देर नहीं लगी। जिले से ट्रक चोरी की घटनाएं हो चुकीं है। लोगों का कहना है कि इसमें कोई चोर गिरोह शामिल है जिसका पर्दाफाश होना चाहिए।

जानकारी के मुताबिक ट्रैकिंग सिस्टम की मदद से बाघा निवासी जुल्फीराम शर्मा का चोरी हुआ ट्रक बरामद हो गया है। जुल्फीराम का ट्रक सोमवार रात उस समय चोरी हो गया था जब वह अर्की तहसील के बाघा गांव में पार्किंग में खड़ा था। सुबह जब ड्राइवर ड्यूटी के लिए आया तो वाहन पार्किंग से गायब था। चोरी की इस घटना के बारे में चालक ने तुरंत जुल्फीराम को सूचित किया। वाहन मालिक जुल्फीराम ने वाहन की लोकेशन जीपीएस ट्रैकिंग एप्लीकेशन की मदद से पता की। मोबाइल फोन में इंस्टाल लेट्सट्रैक ट्रैकिंग डिवाइस की मदद से जुल्फीराम ने पाया कि उनका ट्रक चंडीगढ़ के नजदीक आनंदपुर साहिब स्थित विरासत-ए-खालसा के पास खड़ा है। इसकी सूचना मिलने के बाद वह अपना ट्रक लाने के लिए तुरंत चंडीगढ़ रवाना हो गए जहां पर उन्हें अपना ट्रक मिल गया। ट्रक मालिक जुल्फीराम ने कहा कि ट्रैक सिस्टम के जरिये ही उन्हें अपना ट्रक मिल पाया है। इससे पूर्व अर्की से ही एक सीमेंट से लदा ट्रक भी चोरी हुआ था जिसे भी जीपीएस सिस्टम की मदद से शिमला से बरामद किया गया था।

यह है जीपीएस

जीपीएस (ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम) को मोबाइल फोन के जरिये ट्रक-कार या फिर अन्य वाहन से जोड़ लिया जाता है। इससे वाहन की लोकेशन आपके मोबाइल फोन पर आती रहती है। यह एक तरह से सेटेलाइट के जरिये मोबाइल सिग्नल से जुड़ जाता है। वाहन जहां से जहां से गुजरता है उसकी पूरी लोकेशन आपके के मोबाइल से जुड़ी रहती है। वाहन की लोकेशन पता करने के लिए जैसे ही आपक ट्रैक करते हैं तो आपके मोबाइल पर यह पूरी लोकेशन पहुंच जाती है जिससे आपको वाहन ढूंढने में ज्यादा परेशानी नहीं झेलनी पड़ती।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/eqbk0wAA

📲 Get Solan News on Whatsapp 💬