🇵🇰पाकिस्तान में क्रिस्चन✝ ही होंगे सफाईकर्मी🧹, इमरान की पार्टी ने मंजूर किया प्रस्‍ताव👊

  |   Hindiworldnews

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पिछले दिनों भारत को अल्‍पसंख्‍यकों के अधिकारों को लेकर नसीहत देने की कोशिश की थी, जिस पर उन्हें करारा जवाब मिला था। अब इमरान खान के मुल्‍क में खुद ऐसा हुआ है, जिससे अल्‍पसंख्‍यकों के मानवाध‍िकारों को कुचलने और उन्‍हें नीचा दिखाने को लेकर पाकिस्‍तान एक बार फिर बेनकाब हुआ है।

अमेरिकी विदेश विभाग ने भी इसी महीने अपनी एक रिपोर्ट में पाकिस्‍तान को लोगों के धार्मिक अधिकारों को कुचलने वाले दुनिया के तीन प्रमुख देशों में शामिल किया था। इनमें चीन और सऊदी अरब का नाम भी शामिल था। अब एक बार फिर पाकिस्‍तान में कुछ ऐसा हुआ है, जो इस संबंध में अमेरिकी विदेश विभाग की र‍िपोर्ट की एक तरह से पुष्टि करते हैं।

पाकिस्‍तान के खैबर पख्‍तूनख्‍वा प्रांत में इमरान की पार्टी पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ की सरकार है। यहां स्‍वाबी जिला परिषद ने एक प्रस्‍ताव पारित किया है, जिसके अनुसार अस्‍पतालों में स्‍वीपर पद पर केवल क्रिस्‍चनों की ही भर्ती की जानी चाहिए। यह प्रस्‍ताव परिषद में सर्वसम्‍मति से पारित किया गया और इसे इमरान की पार्टी के नेता अकमल खान ने प्रस्‍तावित किया था।

'समा टीवी' की रिपोर्ट के मुताबिक, परिषद ने इस प्रस्‍ताव को कोर्ट के आदेशों के अनुरूप बताया, पर इसमें यह नहीं बताया गया कि कोर्ट ने इस संबंध में कब और किस मामले में आदेश दिया था। इस बीच, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने खैबर पख्‍तूनख्‍वा प्रांत की स्‍वाबी जिला परिषद की ओर से यह प्रस्‍ताव पारित किए जाने की आलोचना की है।

यहां पढ़ें पूरी खबर- http://v.duta.us/zspDxAAA

📲 Get विश्व समाचार on Whatsapp 💬