[bhilai] - BREAKING : क्या राजीव दीक्षित की मौत के रहस्य से उठेगा पर्दा ? #PMO ने दिए जांच के आदेश

  |   Bhilainews

भिलाई@Patrika. स्वदेशी उत्पादों के प्रणेता एवं भारत स्वाभिमान आंदोलन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव दीक्षित की मौत के रहस्य पर से पर्दा उठेेगा। प्रधानमंत्री कार्यालय से 8 साल पहले छत्तीसगढ़ भिलाई में हुई उनकी मौत की नए सिरे से जांच के आदेश दुर्ग पुलिस को दिए हैं। उस वक्त दीक्षित की मौत को हृदयघात की वजह बताई गई थी।

शव को बिना पोस्टमार्टम कराए ही अंतिम संस्कार के लिए गृहनगर भेज दिया

भारत स्वाभिमान आंदोलन के राष्ट्रीय प्रवक्ता रहे राजीव दीक्षित की 29-30 नवंबर 2010 की दरम्यानी रात को भिलाई के बीएसआर अपोलो अस्पताल में मौत हो गई थी। वे स्वदेशी उत्पादों के प्रणेता और देशभर में घूम-घूम कर स्वदेशी अपनाने व्याख्यान दिया करते थे। @Patrika.विदेशी कम्पनियों के उत्पादों के उपयोग का विरोध करने की बजह से उनकी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बन गई थी। यही पहचान विदेशी बाजार के भारतीय व्यापारियों को आंख की किरकिरी की तरह चुभने लगी थी। छत्तीसगढ़ भिलाई प्रवास के दौरान हुई उनकी मौत पर तत्कालीन जिला प्रशासन की ओर से उनके शव को बिना पोस्टमार्टम कराए ही अंतिम संस्कार के लिए गृहनगर भेज दिया था। @Patrika.जांच की दिशा में इसे गंभीर चूक मानी जा रही है। अब जब प्रधानमंत्री कार्यालय दिल्ली से दुर्ग पुलिस को मामले की नये सिरे से जांच का आदेश मिल गया है तो मौत के रहस्य पर से पर्दा उठने को बल मिल रहा है।...

फोटो - http://v.duta.us/MhtqdAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/yB-yVgAA

📲 Get Bhilainews on Whatsapp 💬