[bhilwara] - कच्चा माल हमारा, बल्ले-बल्ले गुजरात की

  |   Bhilwaranews

जसराज ओझा. भीलवाड़ा।

कच्चा माल हमारा और बल्ले-बल्ले गुजरात के उद्योगों की हो रही है। ऐसा इसलिए हैं, क्योंकि राज्य की पिछली सरकार ने रिसर्जेंट राजस्थान के नाम पर एमओयू तो किए, लेकिन धरातल पर नहीं उतारे। सबसे बड़ी बात है कि भीलवाड़ा खनिज बहुल क्षेत्र है। यहां निकल रहे क्वार्ट्ज फेल्सपार को ग्राइडिंग यूनिटों में पीसकर पाउडर बना जा रहा है, लेकिन इनसे टाइल्स गुजरात के मोरवी में बन रही हैं।

मोरवी में विकसित टाइल्स पार्क में कई यूनिटे लग गई हैं। अब वहां ग्राइडिंग यूनिट लगने से भीलवाड़ा का कच्चा माल सीधा वहां जाने लगा है। इसके चलते यहां की दर्जनों ग्राइडिंग यूनिटें बंद हो रही है। महंगी बिजली भी इसका बड़ा कारण बन गई है। भीलवाड़ा जिले के आसींद, मांडल, रायपुर, सहाड़ा, हमीरगढ़ क्षेत्र में क्वाट्र्ज फेल्सपार पत्थर की खानें हैं।...

फोटो - http://v.duta.us/4Hc39wAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/5aUqYAAA

📲 Get Bhilwara News on Whatsapp 💬