[champawat] - बजट के अभाव में अधर में लटका हेलीपेड का निर्माण

  |   Champawatnews

पिथौरागढ़ में नैनीसैनी हवाई पट्टी से हवाई सेवा शुरू हो गई है लेकिन चंपावत में एक स्थायी हेलीपेड का निर्माण तक नहीं हो पाया है। 1997 में बने चंपावत जिले में हेलीपेड के सपने को पूरा करने के लिए 2 करोड़ 65 लाख रुपये की जरूरत है।

सर्किट हाउस के पास सेलाखोला ग्राम पंचायत की भूमि में 2015 में शुरू हुआ हेलीपेड का निर्माण बजट के अभाव में अधर में लटक गया है। सर्किट हाउस के पास 0.20 हेक्टेयर जमीन को भूगर्भीय परीक्षण के बाद हेलीपेड के लिए उपयुक्त मानते हुए नागरिक उड्डयन निदेशालय ने 2011 में हरी झंडी दी थी। पूर्व डीएम डॉ. अहमद इकबाल के निर्देश पर लोनिवि की ओर से किए गए सर्वे में हेलीपेड में तमाम खामियां पाई गईं। इसमें हेलीपेड के नीचे भूकटाव, सुरक्षा दीवार, कच्चा पहुंच मार्ग जैसी खामियां पाई गईं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/pGHGHgAA

📲 Get Champawat News on Whatsapp 💬