[gwalior] - निजी बस ऑपरेटरों से क्यों डरा प्रशासन, स्मार्ट बसें खा रही धूल

  |   Gwaliornews

ग्वालियर. निजी बस ऑपरेटरों द्वारा स्मार्ट सिटी बसों का विरोध किए जाने के कारण अफसर नए रूटों पर स्मार्ट बसें चलाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। स्मार्ट सिटी बस स्टैंड में तीन बसें रखी हैं, लेकिन उनके परमिट के लिए अब तक आवेदन भी नहीं दिए जा सके हैं। गुना-शिवपुरी के बाद अंचल के दूसरे जिलों के यात्रियों को भी स्मार्ट बस चलने का इंतजार है। भिंड, मुरैना, श्योपुर एवं दतिया में इसके लिए बस स्टैंड भी तैयार किया जा चुका है, लेकिन इन रूटों पर स्मार्ट बसें दौड़ नहीं सकी हैं।

नए रूटों पर स्मार्ट बसों को चलाने को लेकर स्मार्ट सिटी के अधिकारी पशोपेश में हैं। निजी बस ऑपरेटर लगातार सूत्र सेवा (स्मार्ट बस) की वातानुकूलित बसों को लेकर विरोध जता रहे हैं। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में इन रूटों पर बसें संचालित करने के लिए अधिकारी प्लान तैयार कर बैठे हैं। अब तक नौ बसें आ चुकी हैं, इनमें चार बसें गुना, शिवपुरी से ग्वालियर और दो बसें सिटी में संचालित की जा रही हैं। स्मार्ट सिटी बस स्टैंड पर करीब एक महीने से तीन बसें खड़ी हुई हैं। इन बसों का संचालन करने के लिए बस ऑपरेटर से लेकर स्मार्ट सिटी के अधिकारी हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं।...

फोटो - http://v.duta.us/ndj51AAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/FGaxFwAA

📲 Get Gwalior News on Whatsapp 💬