[gwalior] - विधायक से बोली पुलिस हमें फांसी पर चढ़ा देना, हमारे तो मंत्री गोविंद सिंह से संबंध हैं

  |   Gwaliornews

ग्वालियर। छात्र की कार को बिना वजह रोकने पर यातायात पुलिस का उससे विवाद हो गया। पुलिसकर्मी उसकी बात सुनने को तैयार नहीं हुए तो छात्र ने कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक को बुला लिया। फिर पुलिसकर्मियों के तेवर ढीले नहीं हुए बल्कि उनसे भी बोल दिया कि हमें फांसी पर चढ़ा देना। चौराहे पर हंगामा करीब २० मिनट चला। पुलिस की हरकत अफसरों को पता चली तो मामला संभालने की कोशिश की और प्वॉइंट पर तैनात सूबेदार को लाइन हाजिर कर दिया।

नेहरु पेट्रोल पंप निवासी आशीष उपाध्याय ने बताया मंगलवार शाम को कार से घर लौट रहे थे, स्टेशन बजरिया रोड पर एनसीसी ऑफिस के पास ट्रैफिक प्वाइंट तैनात था। यहां शाम के वक्त जाम की स्थिति थी। वह भी कार को धीरे-धीरे चला रहे थे। तब बिना वजह ट्रैफिक के आरक्षक राघवेन्द्र तोमर ने उन्हे रोककर अभद्रता से डांट,डपट की। उन्होंने पूछा कि उनकी गलती क्या है। किस बात के लिए डांट रहे हो। पुलिसकर्मी की बात को अनसुना कर कार आगे बढाई तो उसने बोनट पर डंडा मार दिया। यह रवैया देखकर वह कार से उतर आए। सडक़ किनारे सूबेदार राघवेन्द्र जादौन खडे थे उनसे सिपाही की शिकायत की तो सूबेदार भी भडक़ गए। बिना उसकी कॉलर पकड कर झकझोर दिया। चौराहे पर जाम लगा था, दूसरी तरफ डीएसपी ट्रैफिक आरएन त्रिपाठी दिखे तो उनके पास जाकर वाक्या बताया लेकिन उन्होंने भी उसे नजर अंदाज कर दिया। जब कोई बात सुनने को तैयार नहीं दिखा तो विधायक प्रवीण पाठक को फोन किया। उन्हें बताया कि पुलिसकर्मी बिना वजह परेशान कर रहे हैं। फोन पर उनसे सूबेदार जादौन की बात कराई तो उनसे भी तलख लहजे में बात कर कहा कि यहीं आ जाओ हमे फांसी चढ़ा देना। फिर फोन काट कर उसे धमकी दी कि नेतागीरी कराते हो। तुम तो विधायक की बात कर रहे हो, हमारे तो मंत्री गोविंद सिंह से संबंध है। सूबेदार की हरकत से विधायक भी सकते में आ गए। मोके पर पहुंचकर सूवेदार जादौन से बात की तो वह तलख लहजे में ही रहे तो पुलिस अफसरों को उनका रवैया बताया। एसपी नवनीत भसीन का कहना है कि जनप्रतिनिधि से अभद्र लहजे में बात का घटनाक्रम सामने आया था, इस पर सूबेदार राघवेन्द्र जादौन को लाइन भेजा गया है।

फोटो - http://v.duta.us/v1NiygAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/46o0oQAA

📲 Get Gwalior News on Whatsapp 💬