[jabalpur] - कभी नेताजी की यादों से फड़क उठती थीं बाहें, आज बुलडोजर से कुचली जा रहीं जनभावनाएं

  |   Jabalpurnews

जबलपुर। नेताजी सुभाषचंद्र बोस जबलपुर की यादों में समाए हैं। लोग उन्हें याद कर खुद को गौरवान्वित महसूस करते हैं। लेकिन, जिम्मेदारों ने उन्हें भुला दिया है। तिलवारा स्थित नेताजी सुभाषचंद्र बोस का स्मारक जर्जर हो रहा है। सीढिय़ां दरक रही हैं। रेलिंग टूट चुकी हैं। पहाड़ी पर खरपतवार और झाडिय़ों की भरमार है। स्मारक का संरक्षण तो दूर की बात, पहाड़ी के आसपास चट्टानों पर बुलडोजर चलाया जा रहा है। इससे आसपास की चट्टान संकरी हो रही हैं। ऐतिहासिक स्मारक को संरक्षित करने के बजाय इसके ठीक सामने एमपीएसइबी के पावर हाउस का निर्माण शुरू किया गया है। इससे तिलवारा स्थित स्मारक का पहुंच मार्ग बेहद संकरा हो जाएगा।...

फोटो - http://v.duta.us/n_amNQEA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/O_IDOQAA

📲 Get Jabalpur News on Whatsapp 💬