[jabalpur] - देश को पहले ही आजाद करा लेना चाहते थे नेताजी... पढि़ए उनका दुर्लभ पत्र

  |   Jabalpurnews

जबलपुर। नेताजी सुभाषचंद्र बोस के दिल में देश की आजादी के लिए कितनी तड़प थी.. तत्कालीन परिस्थितियों को लेकर कितना दर्द था..। 29 जनवरी 1939 को जबलपुर में त्रिपुरी अधिवेशन के दौरान दिया गया उनका भाषण इसकी बानगी है। उनके भाषण का हर शब्द अनमोल है। उन्होंने पूरी विनम्रता से पं. जवाहरलाल नेहरू पर भी निशाना साधा था। उनके पत्र को अक्षरश: पेश किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि जबलपुर के तिलवाराघाट में हुए कांग्रेस के 52 वें अधिवेशन में नेताजी को पूरी बुलंदी के साथ अध्यक्ष चुना गया था। महात्मा गांधी की ओर से उम्मीदवार रहे, पट्टाभि सीतारमैया को 203 मतों से करारी हार मिली थी। यह बात अलग है कि तत्कालीन शीर्ष नेताओं के विरोध के चलते नेताजी ने चार महीने बाद ही यह पद त्याग दिया था, लेकिन उनके शब्द और उनमें समायी कशक अमर है। आइए नेताजी की जयंती के अवसर पर आपको भी उन अनमोल शब्दों से रूबरू कराते हैं......

फोटो - http://v.duta.us/ihpuDgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/v-lQtQAA

📲 Get Jabalpur News on Whatsapp 💬