[jalaun] - सोते वक्त लपटों से घिरीं मां-बेटी की मौत

  |   Jalaunnews

जालौन स्थित सहकारी समिति (इफ्को) कर्मी मनीष गुप्ता अपनी पत्नी अपर्णा और बच्चों के साथ गैस गोदाम के पास कालपी रोड में घर पर सो रहे थे। मनीष के मुताबिक, देर रात डेढ़ बजे बगल के जिस कमरे में मां मांडवी (70) पत्नी स्व. सरयू प्रसाद और बहन संगीता (48) सो रहे थे, वहां तेज आवाज के साथ खिड़की का शीशा टूटा। जिससे उनकी आंख खुली तो देखा कि मां बहन के कमरे से धुआं निकल रहा था।

आनन फानन में मैने पत्नी के साथ मिलकर लात मारकर कमरे का दरवाजा खोला तो देखा कि कमरे में धुएं के बीच आग की लपटें थी और मां फर्श पर पड़ी थी। दोनों बच्चे शिवांशी(13), गोपाल (9) भी दृश्य देख चीख पडृ़े। इसके बाद पास पड़ोस के लोगों को जगाया और उनकी मदद से किसी तरह कमरे की आग बुझाने में जुट गए। आग पर काबू करने में मनीष और अपर्णा भी झुलस गए, लेकिन जब तब तक आग पूरी तरह से ठंडी होती तब तक बेड पर सो रही बहन की जलकर मौत हो चुकी थी।...

फोटो - http://v.duta.us/OVtLbAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/UwiIDgAA

📲 Get Jalaun News on Whatsapp 💬