[jashpur-nagar] - जिला बनने के 20 साल बाद भी स्वास्थ्य सेवाओं का नहीं मिल पा रहा समुचित लाभ

  |   Jashpur-Nagarnews

जशपुरनगर. जशपुर जिले के स्थापना के २० साल बीत जाने के बाद भी जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाएं बहाल नहीं हो सकी है। आज भी जिले की ग्रामीण स्वास्थ्य सेवाएं अपनी बदहाली की आंसू बहा रहे हैं। जिले के कई प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में आज भी बुनियादी सुविधाओं का आभाव है, जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्रों के मरीजों को अपना उपचार कराने में परेशानी का सामना करना पड़ता है।

जिला स्थापना के २० साल बीत जाने के बाद भी कोतबा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का अब तक उन्नयन नहीं किया गया। आबादी बढ़ गई और नगरपंचायत की स्थापना भी हो गई, लेकिन आज भी यहां स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार नहीं हो सका है। जिससे नगर पंचायत सहित दर्जनों पंचायत के मरीजों को इलाज के लिए रायगढ़ जिले के लैलूंगा स्वास्थ्य केंद्र पर निर्भर रहना पड़ता है। स्वास्थ्य सेवाओं में जहां जिला मुख्यालय की स्थिति बदहाल है। वहीं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के विस्तार व उन्नयन के लिए कोई पहल नहीं की जा रही है। यहां स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के उन्नयन व 30 बिस्तर अस्पताल की मांग को लेकर ग्रामीण एक दशक से शासन, प्रशासन के पास गुहार लगा रहे हैं। ग्रामीणों ने यहां स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर आ रही समस्या से मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के जनदर्शन में जाकर आवेदन देते हुए मांग की थी। यहां के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में लगभग एक लाख लोग निर्भर हैं, जिससे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में लोगो को समुचित उपचार नही मिल पाता है। लोगों को छोटी मोटी बीमारियों के लिए भी रायगढ़ जाकर उपचार कराना पड़ता है। इसके बावजूद प्रशासन ने इस समस्या को आज तक गंभीरता से नहीं लिया। स्वास्थ्य केंद्र में कर्मचारियों का अभाव है। नगरवासियो के मुताबिक वर्ष 2005 से मुख्यमंत्री जनदर्शन में जाकर पहली मांग की गई थी। उसके बाद लगातार वर्ष 2006 और 2007 में भी आवेदन दिया गया। लेकिन कोई सुविधा मुहैया नहीं कराई गई और न ही इस समस्या को लेकर प्रशासनिक अमला ही गंभीर हुआ। नगरवासी लगातार इस समस्या को लेकर मांग कर रहे हैं।...

फोटो - http://v.duta.us/qaUn9wAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/DkBHDgAA

📲 Get Jashpur-Nagarnews on Whatsapp 💬