[madhya-pradesh] - OPINION: शिवराज-सिंधिया मुलाकात: क्या भविष्य की राजनीति का मसाला तैयार हो रहा है

  |   Madhya-Pradeshnews

इसे महज राजनीतिक सौजन्यता मानकर खारिज नहीं किया जा सकता. एक महीने पहले तक मध्य प्रदेश के चुनावी कैम्पेन में एक ही नारे का शोर था- 'माफ करो महाराज हमारा नेता शिवराज'. आज यही शिवराज और महाराज याने कांग्रेस के स्टार कैम्पेनर ज्योतिरादित्य सिंधिया भोपाल की सर्द रात में गर्मजोशी से मिलते और चाय की चुस्कियां उड़ाते देखे जा रहे हैं. दरअसल सिंधिया ने इस मुलाकात से यह फिर साबित किया है कि मध्यप्रदेश की कमान भले ही कमलनाथ के पास हो और दिग्विजयसिंह समानांतर पावर में हो लेकिन तीसरी ताकत वे खुद हैं.

लंबे समय तक गैर मौजूद

कमलनाथ के शपथ ग्रहण में ने गैर मौजूद थे . बहुमत साबित करने के मौके पर भी वे अलग–थलग दिखे. मुख्यमंत्री कमलनाथ बाकायदा उन्हें स्पेशल प्लेन भेजते हैं, तब सिंधिया भोपाल पहुंचते हैं. विधायकों की खरीद–फरोख्त की अटकलों पर अटैक करते हैं कि -भाजपा के पास न तो हॉर्स है न ट्रेड. अब जब मुख्यमंत्री दावोस में वर्ल्ड ट्रेड कांफ्रेंस में हैं और दिग्विजय सिंह भोपाल से बाहर हैं तब सिंधिया राजधानी का दौरा करते हैं तो अपने निजी कार्यक्रमों के बाद दिल्ली से लौटे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से मिलने की इच्छा जताते हुए उनके निवास पहुंचते हैं....

फोटो - http://v.duta.us/CZUmzwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/l8vZYgAA

📲 Get Madhya Pradesh News on Whatsapp 💬