[mau] - अस्पतालों में चरमराई चिकित्सा व्यवस्था

  |   Maunews

संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की बेमियादी हड़ताल के चलते दूसरे दिन अस्पतालों में स्वास्थ्य सेवाएं चरमराने लगीं। हड़ताल से टीबी, एनआरसी और एसएनसीयू वार्डों में स्वास्थ्यकर्मी नहीं पहुंचे। नतीजतन जहां वार्ड में भर्ती मरीजों की सुध लेने वाला कोई नहीं रहा वहीं, ओपीडी में डॉक्टरों के नहीं बैठने से मरीज भटकते रहे। एमआर टीकाकरण, टीबी खोजी रोगी अभियान का चरण भी प्रभावित रहा। जबकि हड़ताल से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कोई वैकल्पिक इंतजाम नहीं किए।

जिला अस्पताल के एनसीडी क्लीनिक में तैनात संविदा चिकित्सक, एक फिजियोथेरेपिस्ट, लैब टेक्नीशियन सहित तीन स्टाफ नर्सों की तैनाती है। जहां यह सभी सोमवार से हड़ताल पर चले गए है, इसी तरह जिला अस्पताल के पीआईसीयू वार्ड के लिए 22 संविदा स्टॉफ नर्सो की तैनाती है, लेकिन पीआईसीयू शुरू न होने से यह वार्डो में सेवाए दे रही है, लेकिन यह सभी भी हड़ताल में शामिल होने से अस्पताल नहीं आ रहे है। इससे जहां मरीजों की जांच प्रभावित हो रही है, वहीं यहां भर्ती मरीजों के केयर करने में मुश्किल हो रही है। यही स्थिति सीएचसी- पीएचसी पर है, जहां अधिकांश संविदा चिकित्सकों द्वारा हड़ताल में शामिल होने से मरीजों को इलाज के लिए जिला अस्पताल की ओर रूख करना पड़ रहा है।...

फोटो - http://v.duta.us/-gsoOwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/2SqHawAA

📲 Get Mau News on Whatsapp 💬