[ratlam] - जब एक मां ने जनसुनवाई मेें बताई यह दास्तां, अफसर भी पसीज गए

  |   Ratlamnews

रतलाम. जिन बेटों से मां को बुढ़ापे में सहारा बनने की उम्मीद थी वे शहर ही छोड़ गए। जिस मकान में रहते थे उसे बेच दिया, यही नहीं भरण-पोषण का वाद किया था। उसे भी रिश्तों की डोर की तरह तोड़ दिया। अब बुढ़ापे में मां प्रशासन से न्याय की गुहार लगा रही है। कलेक्ट्रेट में मंगलवार को जनसुनवाई के दौरान सूरजबाई पति रामलाल निवासी थावरिया बाजार ने बताया कि उनके तीन बेटे मकान बेचकर चले गए हैं तथा भरण-पोषण देने से भी मना कर रहे हैं। जबकि एसडीएम शहर ने तीनों को भरण-पोषण देने का आदेश जारी किया है। मामले में अपर कलेक्टर निशा डामोर ने एसडीएम शहर को आदेश का पालन कराने के लिए कहा है। महावीर सोलंकी निवासी मालीकुंआ ने बताया कि वे विकलांग है तथा बैटरी चलित तीन पहिया गाड़ी चाहते हैं, नि:शुल्क गाड़ी दिलाई जाए। संयुक्त कलेक्टर लक्ष्मी गामड़ ने उप संचालक सामाजिक न्याय को कार्रवाई के निर्देश दिए। साप्ताहिक जनसुनवाई में 68 आवेदनों पर निराकरण के निर्देश जारी किए गए है।...

फोटो - http://v.duta.us/vBPGUwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/fac9hgAA

📲 Get Ratlam News on Whatsapp 💬