[uttarakhand] - क्रॉल में रखे गए हाथी का भविष्य तय करेगी विशेषज्ञों की समिति, दो हफ्ते में देगी रिपोर्ट

  |   Uttarakhandnews

राजाजी टाइगर रिजर्व में पकड़े गए जंगली हाथी को केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी की मंसा के अनुरूप वापस जंगल में छोड़ा जाए या नहीं इसके लिए उत्तराखंड वाइल्ड लाइफ डिपार्टमेंट ने पांच सदस्यीय विशेषज्ञों की एक कमेटी का गठन किया है. हरिद्वार क्षेत्र में करीब तीन लोगों की मौत का कारण बने उत्पाती टस्कर हाथी को 23 नवंबर को राजाजी पार्क प्रशासन ने ट्रेंकुलाइज कर कब्जे में ले लिया था. तब से उसे पार्क प्रशासन पालतू बनाने का प्रयास कर रहा था. लेकिन इस पर केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने कड़ी आपत्ति जताई थी. राज्य सरकार को पत्र लिखकर मेनका गांधी ने कहा था कि ये पशु क्रूरता है. लिहाजा हाथी को उसके प्राकृतिक आवास जंगल में छोड़ दिया जाना चाहिए. इसके बाद तय हुआ कि जंगल में छोड़ने से पहले महीने भर से क्रॉल में रखे टस्कर का स्वास्थ्य और व्यवहार का परीक्षण करा लिया जाए....

फोटो - http://v.duta.us/tcHxeQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/5F8LswAA

📲 Get uttarakhandnews on Whatsapp 💬