मंडी में धान की बेकद्री शुरू

  |   Jindnews

मंडी में धान की आवक शुरू होते ही उसकी बेकद्री शुरू हो गई है। इस पर मंडी प्रशासन भी मौन है। मंडी में किसानों को सबसे बड़ी परेशानी धान की बोली नहीं होना है। किसानों का कहना है कि सुबह एक से दो घंटे तक कुछ ही दुकानों पर बोली होती है। इसके कुछ समय बाद इसी रेट पर व्यापारी बिना बोली के धान खरीदते हैं। वहीं सोमवार को धान की खरीद ही नहीं हुई।

किसानों ने बताया कि मंडी में सुबह कुछ ही दुकानों पर बोली होती है। इससे उनकी फसल का उचित भाव नहीं मिल पाता। मंडी में धान की बोली की प्रक्रिया ढंग से शुरू ही नहीं हुई। इसके कारण न तो किसानों के पास सीजन में इतना ज्यादा समय है कि वह तीन से चार दिन तक धान को मंडी में डालकर बोली का इंतजार करें और न ही मंडी प्रशासन चाहता की मंडी में बोली हो। मंडी में धान की आवक एक सप्ताह से शुरू है। अभी तक 1509 धान सबसे ज्यादा आता है। इस धान को 2700 से 2800 में बेचना पड़ रहा है। इसमें व्यापारियों पर निर्भर करता है कि वह किसान का धान किस भाव पर लेते हैं। मंडी में अब तक 26715 क्विंटल धान खरीदा गया है।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/NyvxKwAA

📲 Get Jind News on Whatsapp 💬