'राजा" के सिपहसालारों के घर 'महाराजा" की दस्तक,चढ़ा सियासी पारा

  |   Sheopurnews

श्योपुर,

महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनावी सरगर्मियों के बावजूद ग्वालियर-चंबल के जिलों में तूफानी दौरे कर रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के गुट के नेताओं के घरों पर जाकर नए राजनीतिक समीकरणों और चर्चाओं के संकेत देते हुए नई बहस भी छेड़ गए। या यूं कहें कि महाराज (सिंधिया) अपने ही गढ़ में राजा(दिग्गी) के सिपहसालारोंं के घर दस्तक देकर सियासी शतरंज में चाल चली है।

रविवार को श्योपुर आए सिंधिया पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह गुट के श्योपुर विधायक बाबू जंडेल और पूर्व मंत्री स्व. इब्राहिम कुर्रेशी के पुत्र शानू कुर्रेशी के घर भी गए। हालांकि सिंधिया के इस कदम को सौजन्य भेंट बताया जा रहा है, लेकिन पहली बार उनके इस तरह के कदम से सियासी पारा चढ़ गया है। यही नहीं पिछले दिनों भिंड में भी दिग्विजय गुट के बड़े नेता और प्रदेश सरकार में मंत्री डॉ.गोविंद सिंह के साथ ही मुरैना और शिवपुरी जिलों में भी सिंधिया ने दिग्गी गुट के नेताओं से चर्चा कर या उनके घर जाकर शह-मात की नई चाल चली है। जबकि अभी तक देखा जाता रहा है कि जब कभी श्योपुर में दिग्विजय सिंह आए तो वे सिंधिया गुट के नेताओं के घर नहीं गए और जब सिंधिया श्योपुर आए तो वे दिग्गी गुट के नेताओं के घर नहीं गए। विशेष बात यह है कि श्योपुर में दिग्गी गुट के जिन दो नेताओं के घर सिंधिया पहुंचे, उनमें विधायक बाबू जंडेल के बारे में तो कहा जाता है कि विधानसभा चुनाव में टिकट भी दिग्गी के कहने पर ही मिला था, जबकि सिंधिया के दिए प्रत्याशियों के टिकट कट गए।...

फोटो - http://v.duta.us/i-M_EgAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/0gPn5QAA

📲 Get Sheopur News on Whatsapp 💬