ऐसे शिक्षक के जज्बे को सलाम : भगवान ने रोशनी छीन ली तो क्या हुआ, मन की आंखों से 19 साल से पढ़ा रहे है कुंजलाल

  |   Bhilainews

बालोद@Patrika. हम आपको बालोद जिले के एक ऐसे अनोखे शिक्षक से मिलवाने जा रहे हैं, जिनकी खुद की जिंदगी में तो अंधेरा है पर वह राष्ट्र के भविष्य निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। (Balod school education news) बालोद जिला मुख्यालय से 40 किमी दूर थाना देवरी अन्तर्गत ग्राम गहिरा नवागांव में एक गरीब परिवार में जन्मे नेत्रहीन कुंजलाल भुआर्य 36 साल कम पढ़े-लिखे होने के बाद भी अपने हुनर से बच्चों को शिक्षा बांट रहे हैं। (Disabled teacher) कुंजलाल के पास शिक्षा की कोई डिग्री तो नहीं लेकिन सुरीले कंठ के धनी कुंजलाल बहुत दिनों से डिग्रीधारकों की तरह स्कूली बच्चों को तालीम दे रहे हैं। (Balod patrika) उनके इस नेक काम की वजह से राज्यपाल सहित कलक्टर उनका सम्मान भी कर चुके हैं।...

फोटो - http://v.duta.us/MUpnGwEA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/8IRUdQAA

📲 Get Bhilainews on Whatsapp 💬