ग्राम सेवक के बिना सूनी पंचायत, आखिरकार कौन है जिम्मेदार

  |   Udaipurnews

उदयपुर/ गोगुंदा. gram sevak स्मार्ट विलेज की सूची में शामिल उपखण्ड मुख्यालय की ग्राम पंचायत में ग्राम सेवक जैसे पद को लेकर जिम्मेदार प्रशासन मौन साधे है। समस्या से स्थानीय लोगों को समस्याओं का मुंह देखना पड़ रहा है। दूसरी ओर सरकारी योजनाओं से लेकर अन्य विकास के काम बाधित पड़े हुए हैं। समस्या यह है कि सरकारी दस्तावेज में ग्राम सेवक का तबादला गोगुंदा ग्राम पंचायत में बता रखा है, जबकि मौके पर चार्ज नहीं लेने के कारण यह पद खाली ही बना हुआ है। ऐसे में रोजमर्रा के कामों को लेकर पंचायत मुख्यालय पर आने वाले ग्रामीणों को निराशा का मुंह देखना पड़ रहा है। करीब छह माह पूर्व तत्कालीन ग्राम सेवक भूपेंद्रसिंह झाला के चार्ज देने के बाद काछबा ग्राम पंचायत के ग्राम सेवक पवन कुमार को क्षेत्र का अतिरिक्त चार्ज दिया गया था। कुछ माह तक तो व्यवस्था दुरस्त रही, लेकिन बाद में यह ढर्रा चरमरा गया। 28 सितम्बर को महात्मा गांधी ग्रामोत्थान शिविर के दौरान ग्राम सेवक की समस्या को लेकर वार्ड पंचों व ग्रामीणों ने आक्रोश भी जताया, लेकिन हमेशा की तरह सरकारी तंत्र में नतीजा ढाक के तीन पात होकर रह गया।...

फोटो - http://v.duta.us/xWk4UAAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/7Q1fFwAA

📲 Get Udaipur News on Whatsapp 💬