डॉक्टर निकला झोलाछाप, केस गैर इरादतन हत्या में बदली

  |   Fatehpurnews

फतेहपुर। नर्सिंग होम में झोलाछाप की लापरवाही से छात्र की मौत होना प्रथम दृष्टया जांच में उजागर हुआ है। ऐसे में पुलिस ने रिपोर्ट को गैर इरादतन हत्या में तरमीम कर दिया। एसीएमओ की रिपोर्ट आने के बाद धोखाधड़ी और मेडिकल के नियमों के उल्लघंन की धाराएं भी बढ़ाई गई हैं। वहीं, कोतवाल जितेंद्र सिंह ने बताया कि एसीएमओ की जांच रिपोर्ट आई है। अस्पताल का रजिस्ट्रेशन नहीं है। आरोपी के पास डिग्री न होने के बाद भी लेटरपैड में नाम के आगे डॉक्टर लगाए हैं। आरोपी बुधवार को जेल भेजा जाएगा।

हुसैनगंज थाने के बीसापुर गांव निवासी सारजन ने बेटे लवकुश(15) को बुखार के इलाज के लिए चार अक्तूबर को भर्ती कराया था। इलाज के दौरान लवकुश की सोमवार को सांसें थम गई थीं। परिजनों में हंगामा किया था। मौके से डाक्टर रामानंद उर्फ आरएन सिंह ने भागने की कोशिश की थी। भीड़ ने दौड़ाकर पकड़ लिया था। पिटाई कर पुलिस को सौंपा था। पुलिस ने पिता की तहरीर पर डॉक्टर के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 ए के तहत रिपोर्ट दर्ज की थी। पुलिस ने मंगलवार को शव का पोस्टमार्टम कराया। पोस्टमार्टम में परिजनों ने डॉक्टर पर पुलिस के मेहरबान होने के आरोप लगाए। इसकी शिकायत भी पुलिस अधिकारियों से की गई। रिपोर्ट देर शाम पुलिस के पास पहुंची। पुलिस ने सीधे गैर इरादतन हत्या की धारा 304 के तहत एफआईआर तरमीम की।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/ehbRBgAA

📲 Get Fatehpur News on Whatsapp 💬