दूसरी राजधानी धर्मशाला के मुद्दे पर शांता के बयान पर कांग्रेस का पलटवार

  |   Himachal-Pradeshnews

धर्मशाला. जहां एक और हिमाचल के धर्मशाला (Dharamshala) में उपचुनाव जीतने के लिए भाजपा और कांग्रेस जदोजहद कर रही है. वहीं, दूसरी और दूसरी राजधानी का जिन्न एक बार फिर सामने आया है.

दरअसल, बवाल पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार (Shanta Kumar) द्वारा दूसरी राजधानी पर दिए गए बयान पर उठा है. शांता कुमार ने धर्मशाल को दूसरी राजधानी का कोई औचित्य न होने की बात कही है.इस पर विपक्ष तल्ख हो चुका है. विपक्ष ने शांता कुमार समेत इस मसले पर भाजपा सरकार को ही कटघरे में खड़ा कर दिया है.

यह बोली कांग्रेस

विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री की माने तो कांग्रेस ने धर्मशाला को इसलिए दूसरी राजधानी का दर्जा दिलवाया था, चूंकि लोअर हिमाचल की लंबे समय से अनदेखी हो रही थी. यहां की भूगौलिक परिस्थियां ऐसी हैं कि इन्हें एक राजधानी के जरिये नहीं साधा जा सकता और यही वजह है कि प्रदेश को दूसरी राजधानी की दरकार महसूस होने लगी थी. इस पर पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने धर्मशाला को इसके लिए सही और उपयुक्त स्थान समझा.कांग्रेस सरकार ने दिया था दर्जा...

फोटो - http://v.duta.us/fpeY5gAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/YHc42gAA

📲 Get himachal-pradeshnews on Whatsapp 💬