पिता ने सोनिका को सिखाए थे पहलवानी के गुर

  |   Mathuranews

कोसीकलां (मथुरा)। भारत की पहली महिला केसरी सोनिका कालीरमन मंगलवार को द हिंदू इंटर कॉलेज में आयोजित एक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचीं। इस दौरान उन्होंने अपने करियर से जुड़ी कई बातें बताईं। उन्होंने बताया कि पहलवानी के गुर अपने पिता चंदगीराम से ही सीखे थे।

सोनिका ने बताया कि उनकी परवरिश दिल्ली में हुई जहां उनके पिता ने ट्रेनिंग कैंप में उन्हें पहलवानी के गुर सिखाए। उन्होंने कुश्ती करियर की शुरूआत साल 1998 में नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीतने के साथ की। वह देश की पहली महिला पहलवान थी, जिसने एशियन गेम्स में हिस्सा लिया था। हालांकि 2002 में दोहा में हुए एशियन गेम्स में वह कोई पदक हासिल नहीं कर सकीं थीं। बाद में सोनिका ने एशियन वूमैन रेसलिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था।...

फोटो - http://v.duta.us/wYC42AAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/eokk8gAA

📲 Get Mathura News on Whatsapp 💬