बच्चे के जज्बे को सलाम, कचरे से जेसीबी बना 'कमाया नाम

  |   Udaipurnews

शंकरलाल पटेल. उदयपुर/ गींगला पसं. smart student कहते हैं कि हुनर किसी का मोहताज नहीं होता। प्रतिभा के लिए किसी डिग्री और उम्र की जरूरत नहीं होती। कहावतों से भरे ऐसे ही जुमले को चरितार्थ कर दिखाया है राजकीय विद्यालय में अध्ययनरत कक्षा 7वीं के उथरदा निवासी हरीश ओड ने। विपरीत परिस्थतियों से जूझ रहे 13 साल के इस विद्यार्थी की जिंदगी पर पिता का साया नहीं है। अभावों में जिंदगी गुजर बसर कर रहा हरीश बचपन से खिलौनों से जोड़-तोड़ करने की आदत है। जब भी उसकी मां उसे खिलौने दिलाती है वह उसकी तकनीकी को जानने के लिए उत्सुक रहता है। हाल ही में उसकी मां ने उसे खिलौने के तौर पर जेसीबी मशीन दिलाई। आदतन हुनर के बीच उसने जिज्ञासा से जेसीबी खिलौने की तकनीकी पर काम किया और कुछ ही समय में उसने घरेलू सामग्री, बेकार मेडिकल इंजेक्शन, कॉपियों के गत्ते, आइसक्रीम की डंडियों से हाइड्रोलिक पद्वति पर आधारित ऐसी जेसीबी मशीन बना दी कि देखने वाला हर व्यक्ति दांतों तले उंगलिया दबाने को विवश हो गया।...

फोटो - http://v.duta.us/2CBRvgAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/iZLmjAAA

📲 Get Udaipur News on Whatsapp 💬